वंदे भारत के वेटर भी नहीं पहन रहे हैं मास्क

कोरोना वायरस को जहां केन्द्र सरकार ने भी राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है वहीं कैंट स्टेशन पर अभी तक विदेशी यात्रियों की स्क्रीनिंग की व्यवस्था नहीं की गयी है। मरुधर एक्सप्रेस, वंदे भारत, पटना कोटा एक्सप्रेस पूर्वा, के साथ आधा दर्जन ऐसी ट्रेनें हैं जिनमें बड़ी संख्या में विदेशी पर्यटक काशी आते हैं। ऐसे विदेशी यात्री ट्रेन से उतरकर सीधे शहर में प्रवेश कर जा रहें हैं।

कोरोना वायरस को लेकर एयरपोर्ट पर भी कई अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें निरस्त कर दी गयी हैं। विदेश से आने वाले यात्रियों की। स्क्रीनिंग कर के ही शहर में प्रवेश दिया जा रहा है। जिस किसी को संदिग्ध देखा जा रहा है उसे तत्काल मेडिकल जांच के लिए भेजा जा रहा है। ऐसे में कैंट स्टेशन पर रेल प्रशासन की ओर से पूरी तरह लापरवाही बरती जा रही है। आगमन-प्रस्थान के सभी द्वार पर किसी भी तरह की जांच की व्यवस्था नही की गयी है।

आगरा दिल्ली से आते हैं विदेशी पर्यटक

काशी में सबसे ज्यादा पर्यटक आगरा व नई दिल्ली से आते हैं। इसके लिए मरुधर एक्सप्रेस, वंदे भारत, कोटा पटना के अलावा एक दर्जन ट्रेनों को माध्यम बनाया जाता है। ऐसी ही स्थिति यहां से जाने वाली ट्रेनों में भी है। विदेशी पर्यटक स्टेशन पर उतरते ही शहर में प्रवेश कर जाते हैं। इसपर कैंट स्टेशन प्रबंधन कहीं से जागरूक नहीं है और न ही प्रबंधन की ओर से मुख्य चिकित्साधिकारी को इस बाबत कोई पत्र भेजा गया है। जिससे चिकित्सक की व्यवस्था की जा सके।

ट्रेनों की पैंट्रीकार में नही दिखी जागरुकता

ट्रेनों के पैंट्रीकार के अलावा ए क्लास में शुमार भारत की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत में भी कोरोना वायरस को लेकर जागरुकता नही दिखारी जा रही है। वंदे भारत के वेटर बिना मास्क लगाये व हाथ में बिना दस्ताना पहने ही यात्रियों को नाश्ता व खाना परोस रहें हैं। यही हाल लगभग हर ट्रेन की पैंट्रीकार में देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here