उत्तर प्रदेश के बागपत की बिनौली रोड स्थित गुड़ मंडी जाने वाले रास्ते पर कार सवार बदमाशों व पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ में एक लाख का इनामी बदमाश पुलिस की गोली से ढेर हो गया जबकि उसका एक साथी मौके से फरार हो गया।

सिंघावली थाना क्षेत्र में दिल्ली पुलिस के सिपाही की हत्या में वांछित चल रहे एक लाख के इनामी बदमाश जावेद पुत्र इकराम की लोकेशन दिल्ली पुलिस की स्वाट टीम को बागपत में मिली। दिल्ली पुलिस उसके पीछे लग गई। जावेद अपने एक साथी के साथ सफेद रंग की सेंट्रो कार में बड़ौत की तरफ भागा। इंस्पेक्टर अजय शर्मा की टीम ने बिनौली रोड पर दिल्ली पुलिस की टीम के साथ उसे घेर लिया। बदमाशो की कार एक पेड़ से टकराई। इसके बाद कार सवार बदमाशों ने पुलिस पर फायर कर दिया, जिसमे दो पुलिस कर्मियों की बुलेटप्रूफ जैकेट में गोली लगी।

पुलिस की जवाबी कार्रवाई में एक लाख का इनामी जावेद पुलिस की गोली से मारा गया, जबकि उसका साथी पचास हजार का इनामी हसन मौके से फरार हो गया। पुलिस ने मौके ने एक 9 एमएम की कार्बाइन व एक 30 का पिस्टल के साथ सफेद रंग की सेंट्रो कार बरामद की।

एसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि मेरठ के डालूहेड़ा निवासी मनीष (35 वर्ष) पुत्र कृष्णपाल दिल्ली में ट्रैफिक पुलिस में सिपाही था। वह 7 सितम्बर 2020 बाइक पर सवार होकर ड्यूटी से लौट रहा था।  रोशनगढ़ गेट के पास दो बाइक पर सवार होकर आए चार बदमाशों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया।

सिपाही ने बाइक नहीं रोकी तो बदमाशों ने गोली चला दी। पेट में गोली लगने से सिपाही गंभीर घायल हो गया। घटना के अगले दिन मेरठ के निजी अस्पताल में उपचार के दौरान सिपाही की मौत हो गई थी। इस मामले में जावेद व हसन वांछित चल रहे थे। जावेद पर विभिन्न थानों में 19 मामले दर्ज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here