यूरोपीय देशों में कोरोना वायरस के नए वैरियंट का पता लगने का असर आज वायदा बाजार में सोने की कीमत पर भी पड़ा। दावा किया जा रहा है कि वायरस के इस वैरियंट पर कोई भी वैक्सीन प्रभावी नहीं है। इसके साथ ही अमेरिका में राहत पैकेज जारी होने की खबर के कारण भी आज सोने की खरीद तेज हो गई।

घरेलू कमोडिटी एक्सचेंज एमसीएक्स में सोना वायदा 0.22 फीसदी की तेजी के साथ 44736 रुपये प्रति 10 ग्राम के भाव पर कारोबार कर रहा था। चांदी वायदा 176 रुपये की मजबूती के साथ 0.28 फीसदी चढ़कर 63999 रुपये प्रति किलोग्राम के भाव पर पहुंच गया था। अगर हाजिर सौदे की बात करें तो घरेलू सर्राफा बाजार में हाजिर सोना 49 रुपये की मामूली कमजोरी के साथ 43925 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा था। चांदी हाजिर भी 331 रुपये की गिरावट के साथ 62441 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर पर आ गई थी।

जानकारों के मुताबिक अमेरिका में 2 लाख करोड़ डॉलर के राहत पैकेज की खबर से अमेरिका में मुद्रास्फीति बढ़ने का अनुमान है। इससे सोने को सपोर्ट मिला है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अमेरिकी अर्थव्यवस्था को सहारा देने के लिए 2 लाख करोड़ डॉलर के पैकेज की योजना बनाई है। इससे अमेरिका में मुद्रास्फीति की दर बढ़ सकती है। जानकारों का कहना है कि चूंकि सोने में निवेश मुद्रास्फीति के निगेटिव असर से बचाने में मदद करता है, इसलिए भी निवेशकों के बीच सोने का आकर्षण बढ़ा है।

ब्रोकरेज फर्म कोटक सिक्योरिटीज के कमोडिटी रिसर्च हेड रवींद्र राव का कहना है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था में तेजी की उम्मीद, बढ़ती बॉन्ड यील्ड और ईटीएफ के निवेश में कम दिलचस्पी का असर सोने की कीमतों पर पड़ा है। 1670 डॉलर प्रति औंस के ऊपर टिके रहने के बाद सोना ने अच्छी मजबूती दिखाई है। हालांकि उनका ये भी कहना है कि जब तक अमेरिकी डॉलर में बड़ी कमजोरी नहीं आती, तब तक सोने में मामूली उछाल तो देखा जा सकता है लेकिन ज्यादा तेजी की उम्मीद नहीं की जा सकती है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here