नई दिल्ली: देश में जारी कोरोना संकट के बीच . महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने एक बार फिर केंद्र पर निशाना साधते हुए उसकी मंशा पर सवाल उठाए हैं।उन्होंने इस कठिन परिस्थिति में विपक्षी नेताओं के राजनीति करने के सवालों पर कहा कि ‘दाल में कुछ काला’ नजर आ रहा है। ठाकरे ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए वीडियो लिंक के माध्यम से बात करते हुए कहा कि ‘दाल में कुछ काला’ है। पहले दाल तो आने दीजिए।

ठाकरे ने कहा कि हमने केंद्र सरकार से दाल मांगी है। क्योंकि हम अपने राज्य में खाद्य सुरक्षा कानून के तहत लोगों को अनाज देते हैं। लेकिन हमारे पास सिर्फ चावल ही है।इसलिए हमने दाल और गेहूं की मांग की है जो हमें अब तक नहीं मिले है। मुझे लगता है कि दाल में कुछ काला है लेकिन दाल तो आने दो।

पिछले महीने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए 1.75 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की थी और कहा था कि पांच किलो अनाज और एक किलो दाल तीन महीने तक मुफ्त में दी जाएगी। निर्मला  सीतारमण ने यह भी कहा था कि देश में किसी भी व्यक्ति को भूखे नहीं रहने देंगे।

वित्त मंत्री की बातों की तरफ इशारा करते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमारे पास अभी तक अनाज की आपूर्ति नहीं हुई है। इसके साथ ही ठाकरे ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘मैं गडकरी जी को धन्यवाद देना चाहता हूं. उन्होंने कहा था कि चुनाव आते-जाते रहते हैं..कभी लोग सत्ता में रहते हैं तो कभी बाहर चले जाते हैं, लेकिन अगर हम लोगों को खोते हैं तो वह कभी वापस नहीं आ पाएंगे। इसलिए हमें राजनीति नहीं करनी चाहिए। इसके लिए मैं गडकरी जी को धन्यवाद देना चाहता हूं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारा और केंद्र का रिश्ता बहुत अच्छा है, लेकिन कुछ लोग अभी भी राजनीति कर रहे हैं।

इससे पहले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज्य में लागू पाबंदियों में ढील देने का निर्णय तीन मई को देशव्यापी लॉकडाउन समाप्त होने पर स्थिति की समीक्षा करने के बाद लिया जाएगा। राज्य में कोरोना वायरस की स्थिति को लेकर टेलीविजन पर अपने संबोधन में उन्होंने ये विचार रखे. ठाकरे ने कहा, ‘तीन मई तक बढ़ाए गए लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा अगले सप्ताह की जाएगी। उसके बाद हम लॉकडाउन में ढील देने के कदम पर निर्णय लेंगे।ठाकरे ने केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को भी उनके कथन के लिए धन्यवाद दिया, जिसमें गडकरी ने कहा था कि किसी भी प्रकार की राजनीति करने का यह, सही समय नहीं है.

उधर, कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र में इसके संक्रमितों का आकंड़ा 8 हजार पार कर गया है। रविवार को महाराष्ट्र में कोरोना के 440 नए मामले सामने आए और इस दौरान 19 लोगों की मौत हो गई. इनमें से 358 मामले और 12 लोगों की मौत सिर्फ मुंबई में हुई है।वहीं, मुंबई में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 5407 हो गया है। गौरतलब हे कि महाराष्ट्र में कोरोना से अब तक 342 लोगों की मौत हो चुकी है और राज्य में संक्रमितों की संख्या 8068 हो गई है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here