विशेष संवाददाता

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के एक झूठे को फेसबुक पर उजागर करते हुए  टिप्पणी करना एक शख्स को भारी पड़ गया। मुम्बई के वडाला के एक व्यक्ति की शिवसैनिकों ने कथित रूप से पिटाई कर दी। घटना रविवार की है, जब उद्धव ठाकरे के खिलाफ पोस्ट की वजह से शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने हीरामणि तिवारी नामक शख्स की पिटाई कर दी। 

एक समाचार एजेंसी से  हीरामणि तिवारी ने कहा कि 19 दिसंबर को मैंने पोस्ट किया था कि उद्धव ठाकरे का जामिया मिल्लिया इस्लामिया की घटना को जालियावाला बाग से जोड़ना गलत था। इसके बाद 25-30 लोगों ने मुझे पीटा और मेरा मुंडन भी कर दिया। 

तिवाारी की सीएम के सरासर झूूठे बयान पर टिप्पणी कहीँ  से गलत नहीं थी। उल्लेखनीय है कि 17 दिसंबर को नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान जामिया में छात्रों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई को उद्धव ठाकरे ने जलियांवाला बाग से जोड़ा था और कहा था कि जामिया कैंपस में पुलिस जिस प्रकार से दाखिल हुई और छात्रों को पीटा गया, वह मंजर जलियांवाला बाग की तरह था। जबकि सच यह है कि पुलिस ने एक भी गोली नहीं चलायी थी जबकि जलियांवाला बाग में अंग्रेजों ने सैकडों को गोली से भून कर रख दिया था। 

हीरामणि तिवारी ने आगे कहा कि मैं पुलिस थाने गया। पुलिस अधिकारियों ने मुझे पीटे जाने की रिपोर्ट तैयार की। मगर कुछ देर बाद उन्होंने एक दूसरा पत्र तैयार किया और मुझे समझौता करने के लिए कहा गया। मैं इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग करता हूं। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here