उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में करीब 2 साल पहले 12 साल की बच्ची से रेप और भाई सहित उसकी हत्या के मामले में अपर जिला जज और विशेष न्यायाधीश वीना नारायण ने दो दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है। बच्ची की रेप के बाद हत्या कर दी गई थी। आरोपियों ने वारदात को अंजाम देने के बाद बच्ची के शव को भूसे के ढेर में छुपाया था।

हत्या का विरोध करने पर आरोपियों ने बच्ची के भाई का गला भी रेत दिया था। घर के ही दो नौकरों ने इस वीभत्स वारदात को अंजाम दिया था। हापुड़ की अपर जिला जज और विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो कोर्ट) वीना नारायण द्वारा आरोपियों को फांसी देने के आदेश से पीड़ित परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गई है। यह घटना हापुड़ के थाना देहात क्षेत्र में हुई थी।

यह पूरी घटना बच्ची के 10 वर्षीय भाई ने देख ली जिसके बाद आरोपियों ने बच्ची के 10 वर्षीय भाई का भी गला काट दिया था। तभी से मामला न्यायालय में विचाराधीन था। इस मामले में आज गुरुवार को अपर जिला जज और विशेष न्यायाधीश (पॉक्सो कोर्ट) वीना नारायण ने दोनों आरोपियों अंकुर तेली और सोनू उर्फ पव्वा को फांसी की सजा सुनाई है। दोनों आरोपियों को तब तक फांसी पर लटकाया जाएगा, जब तक कि उनकी मृत्यु न हो जाए। मामले में आरोपियों को फांसी दिए जाने के आदेश से पीड़ित परिजनों की आंखों में खुशी के आंसू आ गए।

यह रेप के बाद हत्या के मामले में हापुड़ जिले में पहला ऐसा मामला है जिसमें आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here