इस्लामाबाद। मीडिया में दावा किया जा रहा है कि अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से एक रात पहले इमरान खान को उनके घर में घुसकर बाऍ गाल पर झन्नाटेदार थप्पड़ मारा गया। तमाचा खाने के बाद इमरान खान ने प्रधानमंत्री की कुर्सी की जिद छोड़ दी। अगले दिन आराम से वोटिंग हुई और इमरान खान की सरकार गिर गई।

पाकिस्तान में इन दिनों कहा जा रहा है कि एक थप्पड़ ने पाकिस्तान में सरकार बदल दी और इमरान खान एक झटके में प्रधानमंत्री से पूर्व प्रधानमंत्री बन गए। वो थप्पड़ किसी और को नहीं इमरान को जड़ा गया था। दरअसल यह बात पाकिस्तान के वरिष्ठ पत्रकार कह रहे हैं।

9 अप्रैल की रात इमरान के बनीगाला में मौजूद घर के लॉन में एक हेलिकॉप्टर उतरा और इसमें दो अहम शख्स थे। इन्होंने इमरान से अलग कमरे में मुलाकात की। पहले इन्होंने इमरान से इस्तीफा देने को कहा। लेकिन इमरान खान ने मना कर दिया। इस बीच बहस बढ़ती गई और एक शख्स ने इमरान के गाल पर थप्पड़ जड़ दिया।

इस खुलासे के बाद पाकिस्तान मीडिया में काफी चर्चा हो रही है। दरअसल पाकिस्तान के सोशल मीडिया में सवाल उठे कि इमरान की बाईं आंख के नीचे चोट का निशान कैसे आया? वो दो दिन तक क्यों हर जगह चश्मा लगाए दिखे।

पाकिस्तानी फौज को नकार दिया था इमरान ने

पाकिस्तान की कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक ये घटना इमरान खान के घर बनीगाला पर हुई। तो कुछ रिपोर्ट के मुताबिक ये थप्पड़ कांड प्रधानमंत्री दफ्तर पर हुआ। पाकिस्तान के पत्रकार असद अली तूर के मुताबिक 9 अप्रैल की रात पाकिस्तानी फौज ने इमरान के पास ऑर्डर भेजा कि आप इस्तीफा दे दें। लेकिन इमरान नहीं माने। हालांकि फौज ने सख्त लहजे में कहा कि सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर फॉलो करना ही पड़ेगा।

इमरान जनरल बाजवा को बर्खास्त करने वाले थे

पाकिस्तान के पत्रकार सलीम साफी के मुताबिक इमरान खान ने आर्मी चीफ कमर जावेद बाजवा को ही हटाने का फैसला कर लिया। इमरान खान ने जनरल बाजवा को बर्खास्त करके पूर्व ISI चीफ और अपने खास दोस्त जनरल फैज हमीद को आर्मी चीफ बनाने का मन बना लिया। इमरान ने डिफेंस सेक्रेटरी को बुलाकर बाजवा की बर्खास्तगी और फैज हमीद को नया आर्मी चीफ बनाए जाने के नोटिफिकेशन तैयार कराया। इन पर सिर्फ नोटिफिकेशन नंबर लिखना बाकी था। लेकिन आखिरी मौके पर बाजवा को इमरान की चाल का पता चला। 9 अप्रैल की रात इमरान लॉन में किसी से फोन पर बात करने निकले। आर्मी इंटेलिजेंस ने ये कॉल इंटरसेप्ट कर ली

इमरान के घर उतरा था हेलीकॉप्टर

सके बाद रात करीब 11 बजे रावलपिंडी के आर्मी हेडक्वॉर्टर से एक हेलीकॉप्टर उड़ा। इसमें ISI चीफ लेफ्टिनेंट जनरल नदीम अंजुम और आर्मी चीफ जनरल बाजवा थे। ये चॉपर चंद मिनट बाद इमरान के घर बनीगाला के लॉन में उतरा। एक कमरे में तीनों के बीच बातचीत हुई और आईएसआई चीफ ने इमरान से इस्तीफा देने को कहा। इमरान ने इनकार कर दिया। दावा है कि बहस बढ़ी और गुस्से में आईएसआई प्रमुख नदीम अंजुम ने इमरान के बाएं गाल पर करारा थप्पड़ जड़ दिया। हालांकि पाकिस्तानी सेना ने इस कहानी को बिल्कुल बेबुनियाद बताया है।