दिल्ली में इजरायल के दूतावास के बाहर हुए धमाके की जांच अब नेशनव ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन यानी एनआईए करेगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को एनआईए को धमाके की जांच का जिम्मा सौंपा है। सूत्रों के मुताबिक, एनआईए धमाके के पीछे ईरान ऐंगल को ध्यान में रखते हुए ही जांच आगे बढ़ाएगी।

पहचान जाहिर न करने की शर्त पर एक सूत्र ने बताया, ‘एनआईए को मामले की जांच इसलिए सौंपी गई हैं क्योंकि इसके अंतरराष्ट्रीय ऐंगल भी हैं। अभी तक दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने धमाके वाली जगह से विस्फोटक के नमूने, सीसीटीवी फुटेज और धमकी वाली चिट्ठी इकट्ठे किए हैं, जिन्हें अब केंद्रीय एजेंसी को सौंपा जाएगा।’

अधिकारियों के मुताबिक, ऐसे बहुत से सबूत हैं जो यह संकेत देते हैं कि मामले में तेहरान का हाथ है। हालांकि, जांचकर्ता अभी भी उन लोगों की तलाश कर रहे हैं जिन्होंने यह बम दूतावास के बाहर रखा था।

बता दें कि बीते हफ्ते शुक्रवार को इजरायली दूतावास के बाहर धमाका हुआ था। घटना स्थल पर जांचकर्ताओं को इजराइली दूतावास का पता लिखा एक लिफाफा और लेटर भी मिला है, जिसमें ईरान के एक सैन्य जनरल और परमाणु वैज्ञानिक की हत्या का जिक्र है। साथ ही यह भी कहा गया है कि यह विस्फोट केवल एक ट्रेलर है। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में दो संदिग्ध दिखे हैं।

सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने इजरायली समकक्ष बेंजामिन नेतन्याहू को आश्वासन दिया था कि धमाके के जिम्मेदारों को सजा दी जाएगी। दोनों के बीच फोन पर बातचीत हुई थी। 

29 जनवरी को दिल्ली में इजरायली दूतावास के बाहर एक कम तीव्रता वाला आईईडी ब्लास्ट हुआ था। धमाके में कोई घायल नहीं हुआ था। हालांकि, आसपास खड़ी कुछ गाड़ियों के शीशे चटक गए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here