इंग्लिश टीम को 52 दिन में तीनों फॉर्मेट में शिकस्त दी

टीम इंडिया ने इंग्लैंड को तीसरे वनडे में 7 रन से हराकर फैंस को होली का गिफ्ट दिया है। इसी के साथ भारतीय टीम ने पुणे में खेली गई 3 वनडे की सीरीज 2-1 से जीत ली। फरवरी में भारत दौरे पर आई इंग्लिश टीम को 52 दिन में तीनों फॉर्मेट में शिकस्त दी। 5 फरवरी से खेली गई 4 टेस्ट की सीरीज में 3-1 और फिर 5 टी-20 की सीरीज में 3-2 से हराया था।

निर्णायक वनडे में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम 48.2 ओवर में 329 रन के स्कोर पर ऑलआउट हुई। जवाब में इंग्लिश टीम 9 विकेट गंवाकर 322 रन ही बना सकी। इंग्लैंड के लिए सैम करन ने 83 बॉल पर नाबाद 95 रन की पारी खेली। डेविड मलान ने 50 बॉल पर 50 रन बनाए। सैम करन की यह वनडे में पहली फिफ्टी रही।

आखिरी 3 ओवर का रोमांच

330 रन के टारगेट का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने 200 रन पर 7 विकेट गंवा दिए थे, लेकिन सैम करन ने हार नहीं मानी। वे आखिरी तक डटे रहे। इस दौरान उन्होंने 8वें विकेट के लिए आदिल रशीद के साथ 57 रन की पार्टनरशिप की। जबकि 9वें विकेट के लिए मार्क वुड के साथ मिलकर 60 रन जोड़े, लेकिन टीम को जीत नहीं दिला सके।

आखिरी 18 बॉल पर इंग्लैंड को जीत के लिए 23 रन की जरूरत थी और 2 विकेट बाकी थे। यहां से भुवनेश्वर ने एक ओवर किया और सिर्फ 4 रन दिए। अब 12 बॉल पर 19 रन चाहिए थे। ऐसे में कप्तान विराट कोहली ने हार्दिक को बॉल थमाई। इस ओवर में सिर्फ 5 रन आए, लेकिन 2 कैच भी छूटे। शार्दूल ने वुड का कैच छोड़ा। फिर लगातार दूसरी बॉल पर नटराजन ने सैम करन को जीवनदान दिया।

अब 6 बॉल पर जीत के लिए 14 रन की जरूरत थी। कोहली ने इस बार नटराजन पर भरोसा जताया। स्ट्राइक पर मौजूद सैम करन ने शॉट खेलकर 2 रन लेना चाहे, लेकिन वुड रनआउट हो गए। नए बल्लेबाज रीस टॉपले स्ट्राइक पर आए और उन्होंने एक रन दिया। अगली 2 बॉल पर नटराजन ने कोई रन नहीं दिया। अब इंग्लैंड को 2 बॉल पर 12 रन चाहिए थे। यहां से करन ने एक चौका लगाया और आखिरी बॉल पर कोई रन नहीं ले सके।

भारतीय बल्लेबाजी में पंत और हार्दिक हीरो रहे

बल्लेबाजी के दौरान टीम इंडिया ने एक समय 157 रन पर 4 विकेट गंवा दिए थे। यहां से ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या ने टीम को संभाला। दोनों ने 5वें विकेट के लिए 73 बॉल पर 99 रन की पार्टनरशिप की। पंत ने 62 बॉल पर सबसे ज्यादा 78 रन बनाए। इनके अलावा धवन ने 56 बॉल पर 67 और हार्दिक ने 44 बॉल पर 64 रन की पारी खेली। पंत के करियर की यह तीसरी, धवन की 32वीं और हार्दिक की 7वीं फिफ्टी रही। आखिर में शार्दूल ठाकुर ने 21 बॉल पर 30 रन बनाए। भारतीय पारी में कुल 11 छक्के लगे, जिसमें पंत और हार्दिक ने 4-4 छक्के जड़े। शार्दूल ने 3 सिक्स लगाए।

इंग्लैंड की खराब शुरुआत, शार्दूल ने 4 विकेट लेकर मिडिल ऑर्डर ढहाया

सीरीज में पहली बार इंग्लैंड की शुरुआत खराब रही। पहली बार टीम ने शुरुआती 10 ओवर में विकेट गंवाए। 330 रन के टारगेट का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने 28 रन पर 2 विकेट गंवा दिए थे।

तेज गेंदबाज भुवनेश्वर ने दोनों ओपनर जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो को पवेलियन भेजा। पारी के पहले ओवर में रॉय 14 रन बनाकर क्लीन बोल्ड हुए।
अपने दूसरे और पारी के तीसरे ओवर में भुवी ने जॉनी बेयरस्टो को LBW किया। पिछले वनडे में शतक लगाने वाले बेयरस्टो इस मैच में 1 रन ही बना सके।
68 रन के स्कोर पर इंग्लैंड को तीसरा झटका फास्ट बॉलर नटराजन ने दिया। उन्होंने बेन स्टोक्स को 35 रन पर पवेलियन भेजा। स्टोक्स का कैच शिखर धवन ने लिया।

इंग्लैंड टीम संभलने की कोशिश ही कर रही थी कि शार्दूल ने 95 के स्कोर पर चौथा झटका दिया। उन्होंने इंग्लिश कप्तान जोस बटलर को 15 रन पर एलबीडब्ल्यू किया।

पहले अंपायर ने बटलर को नॉट आउट दिया था। भारतीय कप्तान कोहली ने DRS (डिसीजन रिव्यू सिस्टम) लिया। इसके तहत थर्ड अंपायर ने बटलर को आउट दिया।

155 रन पर इंग्लैंड की आधी टीम पवेलियन लौट गई। शार्दूल ने करियर का दूसरा वनडे खेल रहे लियाम लिविंगस्टोन (36 रन) को शिकार बनाया। लियाम ने मलान के साथ 5वें विकेट के लिए 54 बॉल पर 60 रन की पार्टनरशिप की।
शार्दूल लगातार इंग्लिश बल्लेबाजों पर हावी रहे और 168 रन पर छठा झटका दिया। उन्होंने फिफ्टी लगाकर खेल रहे मलान को पवेलियन भेजकर इंग्लैंड का मिडिल ऑर्डर ढहा दिया।

सैम करन ने आखिर में मोइन अली और आदिल रशीद के साथ मिलकर मैच जीतने की कोशिश जरूर की, लेकिन नाकाम रहे। भुवी ने पहले मोइन को पवेलियन भेजा। इसके बाद शार्दूल ने रशीद को शिकार बनाया।

करन ने रशीद के साथ 8वें विकेट के लिए 53 बॉल पर 57 रन की पार्टनरशिप कर टीम को जीत के करीब पहुंचाने की कोशिश की। 257 के स्कोर पर रशीद भी आउट हो गए। यहां से टीम वापसी नहीं कर सकी।

भुवनेश्वर ने जेसन रॉय को क्लीन बोल्ड किया।

सैम करन को जीवनदान, हार्दिक ने दूसरा कैच छोड़ा

34वें ओवर की 5वीं बॉल पर सैम करन को जीवनदान मिला। प्रसिद्ध कृष्णा की बॉल पर हार्दिक पंड्या ने बाउंड्री पर आसान कैच छोड़ा। इस समय करन 22 रन बनाकर खेल रहे थे। मैच में हार्दिक ने यह दूसरा कैच छोड़ा। इससे पहले 5वें ओवर की चौथी बॉल पर बेन स्टोक्स का आसान सा कैच छोड़ा था। इस समय स्टोक्स 15 रन बनाकर खेल रहे थे और ओवर भुवनेश्वर का था। हालांकि, स्टोक्स जीवनदान का फायदा नहीं उठा सके और 35 रन पर आउट हुए।

टीम इंडिया ने घर में इंग्लैंड से लगातार छठी वनडे सीरीज जीती, 29 साल से नहीं हारे

भारतीय टीम ने घर में इंग्लैंड के खिलाफ लगातार छठी द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीती है। पिछली बार भारतीय टीम ने जनवरी 2017 में घर में इंग्लैंड को सीरीज में 2-1 से हराया था।

टीम इंडिया घर में इंग्लैंड के खिलाफ 29 साल से वनडे सीरीज नहीं हारी है। आखिरी बार इंग्लिश टीम ने दिसंबर 1984 में इंडिया को घर में 4-1 से वनडे सीरीज में हराया था। इसके बाद से भारत ने घर में इंग्लैंड से कोई वनडे सीरीज नहीं हारी।

लगातार 5वीं बार साल की पहली वनडे सीरीज जीती

टीम इंडिया की यह साल की पहली वनडे सीरीज में जीत है। इस तरह टीम ने लगातार 5वीं बार साल की पहली वनडे सीरीज जीती है। भारतीय टीम 2017 से लगातार साल की अपनी पहली वनडे सीरीज जीतती आ रही है। पिछली बार जनवरी 2020 में अपने घर में ऑस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया था। टीम इंडिया आखिरी बार 2016 में साल की पहली वनडे सीरीज हारी थी। तब ऑस्ट्रेलिया के हाथों उसी के घर में 4-1 से सीरीज गंवाई थी।

लगातार 2 वनडे सीरीज में हार के बाद पहली जीत

टीम इंडिया की यह लगातार 2 वनडे सीरीज में हार के बाद पहली जीत है। पिछली दो सीरीज में भारत को फरवरी 2020 में न्यूजीलैंड और नवंबर में ऑस्ट्रेलिया ने शिकस्त दी थी। यह दोनों ही सीरीज भारत ने विपक्षी टीम के घर में खेली थी। हालांकि, टीम इंडिया की अपने घर में यह लगातार तीसरी वनडे सीरीज में जीत है। उसने दिसंबर 2019 में वेस्टइंडीज और जनवरी 2020 में ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दी थी।

हार्दिक और पंत की पार्टनरशिप ने भारतीय पारी को संभाला

भारतीय टीम ने तेज शुरुआत करते हुए 14 ओवर में 100 रन बनाए। 103 के स्कोर पर टीम को पहला झटका लगा। ओपनर रोहित शर्मा 37 रन बनाकर स्पिनर आदिल रशीद की बॉल पर क्लीन बोल्ड हुए।

रशीद ने 117 रन पर टीम इंडिया को दूसरा झटका दिया। उन्होंने अपनी ही बॉल पर शिखर धवन को कैच आउट किया। धवन करियर की 32वीं वनडे फिफ्टी लगाकर आउट हुए। उन्होंने 56 बॉल पर 67 रन की पारी खेली।

टीम 4 रन ही बना पाई थी कि मोइन अली ने तीसरा झटका दिया। उन्होंने भारतीय कप्तान विराट कोहली को क्लीन बोल्ड किया। कोहली 10 बॉल पर 7 रन बनाकर आउट हुए।

अपना दूसरा वनडे खेल रहे स्पिन

ऑलराउंडर लियाम लिविंगस्टोन ने वनडे करियर का पहला विकेट लिया। उन्होंने लोकेश राहुल को कैच आउट कराया। राहुल ने 18 बॉल पर सिर्फ 7 रन बनाए। 157 रन पर टीम इंडिया ने 4 विकेट गंवा दिए थे।

यहां से ऋषभ पंत और हार्दिक पंड्या ने 73 बॉल पर 99 रन की पार्टनरशिप कर टीम का स्कोर 250 रन के पार पहुंचाया। 256 रन पर टॉम करन ने पंत को आउट कर टीम को 5वां झटका दिया।

भारतीय टीम 20 रन ही जोड़ पाई थी कि हार्दिक भी पवेलियन लौट गए। बेन स्टोक्स ने उन्हें क्लीन बोल्ड किया। पंत और हार्दिक दोनों ने मुश्किल स्थिति में फिफ्टी लगाई।

यहां से क्रुणाल पंड्या और शार्दूल ठाकुर ने 7वें विकेट के लिए 42 बॉल पर 45 रन की पार्टनरशिप कर भारत का स्कोर 320 रन के पार पहुंचाया। शार्दूल ने 30 रन की पारी में 3 छक्के लगाए।

पंत ने सीरीज में लगातार दूसरी फिफ्टी लगाई

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत 62 बॉल पर 78 रन बनाकर टॉम करन की बॉल पर कैच आउट हुए। पंत ने करियर की तीसरी वनडे फिफ्टी लगाई। सीरीज में यह उनकी लगातार दूसरी फिफ्टी रही। पिछले वनडे में उन्होंने 77 रन की पारी खेली थी।

रोहित और धवन के बीच 17 बार 100+ रन की ओपनिंग पार्टनरशिप

रोहित और धवन दुनिया की दूसरी ओपनिंग जोड़ी है, जिनके बीच 17 बार 100+ रन की पार्टनरशिप हुई। दोनों ने 112 वनडे पारियों में ओपनिंग की। रोहित-धवन ने ऑस्ट्रेलिया की एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन की ओपनिंग जोड़ी को पीछे छोड़ा। इस जोड़ी ने 16 बार यह उपलब्धि हासिल की थी।

वर्ल्ड में यह रिकॉर्ड सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर की जोड़ी के नाम है। इस ओपनिंग जोड़ी ने 176 वनडे पारियों में सबसे ज्यादा 21 बार 100+ रन की पार्टनरशिप की थी।

बतौर कप्तान कोहली का 200वां इंटरनेशनल मैच

बतौर कप्तान कोहली का यह तीनों फॉर्मेट मिलाकर (टेस्ट, वनडे, टी-20) 200वां इंटरनेशनल मैच रहा। यह उपलब्धि हासिल करने वाले वे वर्ल्ड के 8वें और भारत के तीसरे कप्तान हैं। वर्ल्ड में महेंद्र सिंह धोनी सबसे ज्यादा 332 मैच में कप्तानी करने वाले पहले कप्तान हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here