उत्तर प्रदेश के मेरठ में हॉरर किलिंग की सनसनीखेज और दुस्साहसिक वारदात अंजाम दी गई। अंतरजातीय विवाह से नाराज युवती के परिजनों ने घर के गेट पर ही युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। युवकी की हत्या उसकी मां के सामने की कर दी गई। वारदात के वक्त मां चीखती रही और बेटे को छोड़ देने की गुहार लगाती रही, लेकिन हमलावरों के सिर पर खून सवार था। आरोपी रुके नहीं और युवक के सीने में चाकू घोंप दिया।

मृतक युवक श्रवण की मां कमलेश ने पुलिस को बताया कि सुबह के समय उनका बेटा और पुत्रवधु दोनों बाइक से घर आए थे। बहू अंदर घर में आ गई और श्रवण घर के गेट पर फोन पर बात कर रहा था। इसी दौरान राधा के भाइयों ने हथियारों से लैस होकर श्रवण पर हमला कर दिया। पहला वार राधा के भाई अंकित ने श्रवण की कमर पर किया और चाकू घोंप दिया। श्रवण जान बचाने के लिए घर के अंदर दौड़ा, लेकिन आरोपियों ने उसे पकड़ लिया और घसीटते हुए उसे बाहर गली में ले आए।

कमलेश ने बताया कि उन्होंने आरोपियों से बेटे को छोड़ने की गुहार लगाई, लेकिन हमलावरों के सिर पर खून सवार था। श्रवण के सीने में चाकू घोंप दिया। चाकू से कई वार किए और श्रवण के सीने पर पैर रखकर खड़े हो गए। इसके बाद गांव वालें श्रवण को बचाने आए। इस दौरान उन्होंने हमलावर कोशेंद्र को दबोच लिया, जबकि बाकी तीन आरोपी फरार हो गए। घायल श्रवण को तुरंत मेडिकल कॉलेज ले गए जहां उसने दम तोड़ दिया।

आपको मेरठ गेसूपुर जुनूबी गांव निवासी श्रवण ने ढाई साल पूर्व पड़ोस में रहने वाली राधा से अंतरजातीय प्रेम विवाह किया था। युवती के परिजन इस बात से नाराज थे और प्रेमी युगल की हत्या का ऐलान कर दिया था। इसके बाद, दोनों ने गांव छोड़ दिया और हापुड़ के पिलखुवा में किराए के मकान में रहने लगे। सोमवार को श्रवण के घर पर एक धार्मिक अनुष्ठान था, इसलिए वह पत्नी के साथ गांव आया था। इसकी जानकारी मिलते ही राधा के चार भाइयों अमित, अंकित, कोशेंद्र और रोहित ने श्रवण को घर के दरवाजे पर घेर लिया और चाकुओं से गोद डाला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here