यूपी विधानसभा चुनाव के बाद शनिवार को प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव स्थानीय निकाय चुनाव में मतदान के लिए बेटे आदित्य के साथ सैफई पहुंचे। हमेशा भाजपा पर हमलावर रहने वाले शिवपाल कुछ बदले नजर आए। उन्होंने मतदान प्रक्रिया को सही ठहराया और उनकी मंद मुस्कुराहट से चुप्पी तोड़ी और भाजपा में जाने की अटकलों का जवाब भी दिया।

समाजवादी पार्टी से अलग होकर नई पार्टी का गठन करके अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने के बाद यूपी विधानसभा चुनाव में फिर गठबंधन कर चुके प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह को लेकर फिर अटकलें तेज हैं। भाजपा के शीर्षस्थ पदाधिकारियों से मुलाकात करने और तस्वीरें सामने आने के बाद से उनपर एक बार फिर सपा का साथ छोड़ने की चर्चाएं गर्म हैं। शिवपाल के भाजपा में जाने को लेकर अटकलें पिछले कई दिनों से तेज हैं। इन सबके बीच उनके सैफई आने को लेकर समर्थक बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। यूपी विधानसभा चुनाव में सपा-प्रसपा गठबंधन वाली जसवंतनगर सीट से उन्होंने रिकार्ड मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी।

जसवंतनगर विधायक शिवपाल सिंह शनिवार को बेटे आदित्य के साथ इटावा-फर्रुखाबाद स्थानीय निकाय चुनाव के लिए मतदान करने सैफई ब्लाक में बनाए गए मतदान केंद्र पर पहुंचे। उन्होंने व उनके बेटे आदित्य ने सबसे पहले मतदान किया। इसके बाद मतदान केंद्र से बाहए आए तो उनके मिजाज कुछ बदले बदले से नजर आए, हमेशा भाजपा पर हमलावर रहने वाले शिवपाल पहली बार कुछ भी नहीं बोले। पत्रकारों ने निष्पक्ष एमएलसी चुनाव को लेकर प्रश्न किया तो उन्होंने कहा कि सही हो रहा है चुनाव। एमएलसी का चुनाव गुप्त तरीके से होता है, इसलिए उन्होंने भी गुप्त मतदान किया है। जिसको वोट दिया है वह जीतेगा। अपनी बात कहते हुए वह मंद मंद मुस्कुराते भी रहे, इसपर उनसे मुस्कुराहट का कारण पूछा गया तो बोले- बहुत जल्दी उचित समय आयेगा। बहुत ही जल्दी आपको सूचना मिल जायेगी।