मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक रखने और मनसुख हिरेन ही मौते के मामले में आरोपी सचिन वाजे को पुलिस सेवा से हटा दिया गया है. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक मंगलवार को सचिन वाजे को मुंबई पुलिस ने बर्खास्त किया. NIA मुकेश अंबानी के घर के बाहर बम रखने के मामले में जांच कर रही है. NIA ने 13 मार्च को सचिन वाजे को गिरफ्तार किया था.

बता दें कि बर्खास्तगी से पहले सचिन वाजे मुंबई पुलिस में बहुत ही पावरदार लोगों में से था. इसकी पहली पोस्टिंग 1990 में महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में एक सब इंस्पेक्टर के रूप में हुई थी. लेकिन कुछ ही समय में उसने तरक्की की ऐसी सीढ़ियां चढ़ी कि उसे बड़े से बड़ा नेता और पुलिस महकमे के बड़े अधिकारी पहचानने लगे.

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के नाम से मशहूर सचिन वाजे ने अपने कैरियर में 63 अपराधियों का एनकाउंटर किया. 2002 में घाटकोपर विस्फोट धमाकों की साजिश करने के आरोपी ख्वाजा यूनूस की हिरासत में मौत हो गई थी, जिसके बाद सचिन वाजे और तीन अन्य पुलिस वालों को सस्पेंड कर दिया गया था. सचिन वाजे पर हत्या और सबूत नष्ट करने का आरोप लगा था.

2004 में उसे सस्पेंड कर दिया गया था. लेकिन उसके ऊपर जांच चल रही थी इसी वजह से उसका इस्तीफा मंजूर नहीं हुआ. 2008 में उसने शिवसेना का दामन थाम लिया. यहां वह पार्टी प्रवक्ता बन गया. NIA ने जब सचिन वाजे को गिरफ्तार किया उसके बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि सचिन वाजे का शिवसेना से कोई संबंध नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here