नई दिल्ली ( एजेंसी )। दुनिया में जहां ‘विश्व बाल दिवस’ मनाया जा रहा है वहीं पाकिस्तान से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। पाकिस्तान के सिंध प्रांत में 11 साल के एक हिंदू बच्चे के साथ कुकर्म के बाद उसकी नृशंसता पूर्वक हत्या कर दी गई। समाचारपत्र एक्सप्रेस ट्रिब्यून के मुताबिक, बच्चे का शव शनिवार को खैरपुर मीर के बाबरलोइ में पाया गया।

परिवार के सदस्यों के अनुसार, काना सचदेव शुक्रवार शाम से लापता था और बाद में उसका शव एक सुनसान घर में पाया गया। बाबरलोइ थाने में स्थित इस मकान में अब कोई नहीं रहता है। बच्चे के रिश्तेदार राज कुमार ने एक्सप्रेस ट्रिब्यून को बताया, ‘पूरा परिवार गुरु नानक प्रकाशोत्सव में व्यस्त था। हमें नहीं पता कि बच्चा कैसे खो गया। 11 बजे रात में उसका शव पाया गया। वह पांचवीं कक्षा का छात्र था।’ कुमार ने कहा कि दिल दहला देने वाली घटना के बाद से पूरा इलाका दहल उठा है। पुलिस और बाल संरक्षण प्राधिकार के स्थानीय प्रतिनिधियों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल सुक्कुर पहुंचाया।

नाबालिग बच्चे के शरीर पर प्रताड़ना के मिले चिह्न

बाबरलोइ थाने के एसएचओ ने कहा कि अपराधियों ने कुकर्म करने के बाद बच्चे की गला दबाकर हत्या कर दी। हमने दो लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें से एक ने अपना अपराध कुबूल कर लिया है। बाल संरक्षण प्राधिकार सुक्कुर के जुबैर महार ने कहा कि नाबालिग बच्चे के शरीर पर प्रताड़ना के भी चिह्न मिले हैं। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षो के दौरान यह इस तरह की दूसरी घटना है। कुछ दिनों पहले इसी जिले के सालेह पाट में हिंदू समुदाय की एक नाबालिग लड़की लापता हो गई थी। पुलिस ने 2.5 लाख रुपये का पुरस्कार भी घोषित किया था, लेकिन कोई परिणाम नहीं निकला।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here