फर्टिलाइजर केस की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय ने आरजेडी के राज्यसभा सांसद एडी सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। ईडी की टीम ने बुधवार देर रात उन्हें गिरफ्तार किया है। डिफेंस कॉलोनी स्थित उनके घर पर काफी देर तक तलाशी के बाद ईडी ने यह कार्रवाई की है। बीते साल मार्च में ही आरजेडी ने उन्हें राज्यसभा भेजा था। उस वक्त आरजेडी में भी उनके नाम से बहुत ज्यादा लोग वाकिफ नहीं थे और खुद पार्टी के नेताओं ने ही उन्हें उच्च सदन भेजे जाने पर हैरानी जताई थी। इसके अलावा एक वजह एडी सिंह यानी अमरेंद्र धारी सिंह का भूमिहार होना था। माना जाता है कि लालू प्रसाद यादव पिछड़ों की राजनीति करते हैं। ऐसे में एडी सिंह को उच्च सदन में भेजे जाने पर राजनीतिक विश्लेषकों ने भी हैरानी जताई थी।

पार्टी सूत्रों का कहना था कि उन्हें लालू प्रसाद यादव का करीबी माना जाता है और उनके कहने पर ही उन्हें राज्यसभा भेजा गया है। उन्हें सांसद बनाने पर उठे सवालों का बचाव करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा था कि आरजेडी सिर्फ मुस्लिमों और यादवों की ही पार्टी नहीं है। हमने सभी जातियों और धर्मों से आने वाले लोगों को प्रतिनिधित्व दिया है। पटना के रहने वाले एडी सिंह बिहार के बड़े कारोबारियों में से एक हैं। दिल्ली यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट एडी सिंह का फर्टिलाइजर और केमिकल्स का कारोबार है। इसके अलावा रियल एस्टेट सेक्टर में भी वह बड़ा दखल रखते हैं। उनका पूरा कारोबार दिल्ली से ही संचालित होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here