बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व आरजेडी प्रमुख के परिवार का ड्रामा खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। उनके बड़े बेटे  तेज प्रताप यादव की पत्नी एश्वर्या राय से तलाक के मामले में नया मोड़ आ गया है। लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी ने बहू एश्वर्या राय का समान अपने आवास से निकालकर उनके मायके वापस कर दिया है। लेकिन इसे लेने से ऐश्वर्या के पिता ने इंकार कर दिया है और उन्होंने इसके खिलाफ कानूनी रास्ता अपनाने को कहा है।

दरअसल, इस मामले मे तेजप्रताप यादव ने कहा कि यह समान एश्वर्या की मां पूर्णिमा राय और हेल्फलाइन के अनुरोध पर वापस भेजा गया है। उन्होंने इस मामले में हेल्पलाइन पत्र भी दिखाया है। वहीं एश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने इसे लालू यादव का जंगल राज बताते हुए कहा कि बिना सूचना के ताला तोड़कर समान भेजना बर्दाश्त से बाहर है। उन्होंने कहा जो तेजप्रताप पत्र दिखा रहे है उसमें कही भी समान भेजने की बात नहीं लिखी है।

: मीडिया सूत्रों के अनुसार, राबड़ी देवी ने अपनी बहू का समान उसके पिता चंद्रिका राय के घर रात के अंधेरे में वापस कर दिया। वहीं चंद्रिका राय ने सामान लेने से इनकार कर दिया है। 2 पिकअप वैन से कपड़े से लेकर फर्नीचर और इलेक्ट्रॉनिक्स सामान भेजवाया गया था। राय के आवास के बाहर गाडियां खड़ी है। राय ने पुलिस को बुलाकर सामान जब्त करने का अनुरोध किया है। इस दौरान चंद्रिका राय के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

 उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कमरे का ताला तोड़कर उसके समान को इधर उधर किया गया है। उन्हें समान वापस करना था तो सूचना देनी थी। इसे दंडाधिकारी की मौजूदगी में समान की सूची बनती और कानूनी तरीके से भेजी जाती। साथ ही उन्होंने कहा कि वो लोग बहुमूल्य समान रख लिए हो तो इसमें आश्चर्य की कोई बात नहीं है। चंद्रिका राय को जवाब देते हुए लालू की बेटी मीसा भारती ने कहा है कि उनकी राजनीतिक जमीन खिसक गई है, इसलिए जानबूझकर सस्‍ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए वे ऐसा कर रहे हैं। चंद्रिका राय व उनके पूरे परिवार का मानसिक संतुलन बिगड़ गया है।

तलाक के मामले में चल रही है सुनवाई: गौरतलब है कि तेजप्रताप ने पिछले साल 2 नवंबर को पटना के फैमिली कोर्ट में ऐश्वर्या राय से तलाक की अर्जी लगाई थी। तेजप्रताप की आरजेडी नेता चंद्रिका राय और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा राय की पोती ऐश्वर्या से 12 मई, 2018 में धूमधाम से शादी हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here