प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के सूरत के निकट हजीरा और भावनगर जिले के घोघा के बीच रोपैक्स फेरी सेवा का उद्घाटन किया। यहां पीएम मोदी ने कहा कि किसी एक प्रोजेक्ट के शुरू होने से कैसे व्यापार करने में आसानी भी बढ़ती है और साथ-साथ जीने में आसानी भी कैसे बढ़ती है उसका ये उत्तम उदाहरण है। आज घोघा और हजीरा के बीच रोपैक्स फेरी सर्विस शुरु होने से सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात दोनों क्षेत्र के लोगों का वर्षों का इंतजार खत्म हुआ है। हजीरा में आज नए टर्मिनल का भी लोकार्पण किया गया है।

पीएम मोदी के भाषण की खास बातें-

-प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास, घोघा-दाहेज के बीच फेरी सर्विस को भी जल्द फिर शुरू करने का है। इस प्रोजेक्ट के सामने प्रकृति से जुड़ी अनेक चुनौतियां सामने आ खड़ी हुई हैं। उन्हें आधुनिक टेक्नोलॉजी के माध्यम से दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। समुद्री व्यापार-कारोबार के लिए एक्सपर्ट तैयार हों, ट्रेन्ड मैनपावर हो, इसके लिए गुजरात मेरीटाइम यूनिवर्सिटी बहुत बड़ा सेंटर है। आज यहां समुद्री कानून और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार कानून की पढ़ाई से लेकर मैरीटाइम मैनेजमेंट, शिपिंग और लॉजिस्टिक्स में MBA तक की सुविधा मौजूद है।

-उन्होंने कहा कि हमारे प्रयासों से गुजरात के पोर्ट सेक्टर को नई दिशा मिली है। सिर्फ पोर्ट में फिजिकल इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण ही नहीं, उसके आस पास रहने वाले लोगों के जीवन आसान करने के लिए भी बहुत काम किया गया है। आज गुजरात में समुद्री कारोबार से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर और कैपेसिटी बिल्डिंग पर तेज़ी से काम चल रहा है। जैसे गुजरात मेरीटाइम क्लस्टर, गुजरात समुद्री विश्वविद्यालय, भावनगर में  सीएनजी टर्मिनल, ऐसी अनेक सुविधाएं गुजरात में तैयार हो रही हैं।

-प्रधानमंत्री ने कहा कि गुजरात में रोपैक्स फैरी सेवा शुरु करने में कई लोगों का श्रम लगा है। इसे पूरा करने में कई कठिनाइयां भी आईं। मैं उन सभी साथियों का आभारी हूं, उन तमाम इंजीनियर्स का, श्रमिकों का आभार व्यक्त करता हूं, जो हिम्मत के साथ डटे रहे और आज सपने को साकार करके दिखाया है।

-पीएम ने आगे कहा कि सबसे बड़ी बात ये है कि गुजरात के एक बड़े व्यापारिक केंद्र के साथ सौराष्ट्र की ये कनेक्टिविटी इस क्षेत्र के जीवन को बदलने वाली है। अब सौराष्ट्र के किसानों और पशुपालकों को सब्जी, फल और दूध को सूरत पहुंचाने में ज्यादा आसानी होगी।

-उन्होंने कहा कि इस सेवा से घोघा और हजीरा के बीच अभी जो सड़क की दूरी 375 किमी है, वो समुद्री रास्ते से अब मात्र 90 किमी रह जाएगी। जिस दूरी को पूरा करने में 10 से 12 घंटे का समय लगता था , उसे पूरा करने में अब मात्र 3 से 4 घंटे लगेंगे।

31 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here