पाकिस्तान के पूर्व कप्तान जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्होंने प्रदर्शन मे लगातार नाकाम रहने वाले बल्लेबाजों को लंबे समय तक ढोया । उन्होंने कहा, वर्तमान टीम का कोई खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, न्य़ूजीलैंड और भारत की टीम में शामिल होने लायक नहीं है। उन्होंने कहा, ”मैं यह पूछना चाहता हूं कि पाकिस्तानी टीम में क्या कोई ऐसा खिलाड़ी है, जो ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और भारत के किसी खिलाड़ी का स्थान ले सकता हो ? हमारा कोई भी बल्लेबाज इनमें खेलने लायक नहीं है। हमारे पास गेंदबाज हैं लेकिन बल्लेबाज नहीं हैं।”

जावेद मियांदाद ने एक चैनल से बातचीत में कहा, ”यह दुनिया डेली बेसिस और वेजेस पर चलती है। आज रन बनाओ… पैसे लो और जाओ। कल रन बनाओ और दोबारा पैसे लो। आप एक पेशेवर खिलाड़ी हैं। यदि आप काम नहीं करेंगे तो आपको किस चीज का पैसा मिलना चाहिए। यह पाकिस्तानी बोर्ड का काम है। उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी खिलाड़ी क्रिकेट को हल्के में न ले।”

इससे पहले एक इंटरव्यू में पाकिस्तानी क्रिकेटर अहमद शहजाद ने कहा था, ”मेरी फिटनेस और योग्यता को देखते हुए मैं अब भी 12 साल तक पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व कर सकता हूं। यह बात में अतिरेक में नहीं कह रहा हूं।”

इस पर जावेद मियांदाद ने कहा, ”12 साल क्यों, मैं दावे से कह सकता हूं कि आप 20 साल खेल सकते हैं, लेकिन आपको परफॉर्म करना होगा। अगर आप रोज परफॉर्म कर रहे हैं तो कोई आपको नहीं निकाल सकता। खिलाड़ी तब ड्रॉप किए जाते हैं जब वे परफॉर्म नहीं करते।”

गौरतलब है कि आतंकी सरगना दाऊद इब्राहीम के समधी जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान के लिए 124 टेस्ट मैचों में 8832 और 233 वनडे में 7381 रन बनाए हैं। मियांदाद ने कहा, ”खिलाड़ियों को इस तरह के गैर जिम्मेदाराना बयान नहीं देने चाहिए। उनकी परफॉर्मेंस बोलनी चाहिए।”

पाकिस्तानी क्रिकेट बोर्ड पर तंज करते हुए उन्होंने कहा, ”पाकिस्तान अकेली ऐसी टीम है, जिसमें खिलाड़ियों की पुरानी परफॉर्मेंस को देखकर चुना जाता है।” उन्होंने कहा, ”इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में सीरीज के आधार पर टीम चुनी जाती है। अगर आपने पिछली सीरीज में 500 रन भी बनाए हैं तो वे इस बात को भूल जाते हैं। पाकिस्तान अकेली टीम है, जिसमें एक शतक बनाने के बाद आप 10 मैच खेल सकते हैं। यही इस टीम की मूल समस्या है।”

जावेद मियांदाद ने कहा, ”आप भारत को देखिए, वहां खिलाड़ी 70, 80, 100 और 200 रन बनाता है, यह है असली परफॉर्मेंस। हमारी टीम दुनिया की किसी टॉप क्लास टीम में शामिल नहीं हो सकती।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here