पहले सिगरा-महमूरगंज मार्ग, उसके बाद महमूरगंज-रथयात्रा मार्ग होगा दुरूस्त-जिलाधिकारी

वाराणसी । विधायक सौरभ श्रीवास्तव, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सोमवार को महाप्रबंधक जलकल, लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता एस के अग्रवाल, गंगा प्रदूषण के परियोजना प्रबंधक एस.के बर्मन, एसपी ट्रैफिक श्रवण कुमार सिंह के साथ सिगरा-महमूरगंज मार्ग तथा महमूरगंज-रथयात्रा मार्ग का पैदल निरीक्षण कर सड़क निर्माण कार्य में आ रही बाधाओं को विभागीय अधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित कराते हुए मौके पर ही दूर कराया। निरीक्षण के दौरान गंगा प्रदूषण के अधिशासी अभियंता को कार्य में लापरवाही पर कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने मौके पर ही जमकर फटकार लगाई।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने सीवर लाइन के लीकेज से क्षतिग्रस्त प्रत्येक स्थल पर सम्बंधित विभागों के अधिकारियों से मरम्मत और निर्माण के सम्बंध में पूछताछ की तथा आवश्यक निर्देश दिए।उन्होंने आज से ही सड़कों के गड्ढे और बहते सीवर की मरम्मत का कार्य शुरू कराने के कड़े निर्देश दिए। मरम्मत के कार्य के दौरान ट्रैफिक नियंत्रण और डायवर्ज़न के लिए एसपी ट्रैफिक को जिलाधिकारी ने निर्देशित किया। क्षेत्रीय पार्षदों ने भी रोष व्यक्त किया कि निर्माण कार्य में लापरवाही की वजह से हम नारकीय जीवन जीने को मजबूर हैं।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने निर्माण एजेंसियों को आड़े हाथों लेते हुए कड़े निर्देश दिए कि किसी भी दशा में दिये गये समय में कार्य पूरा हो जाना चाहिए, अगर नहीं हुआ तो कोर्यवाही तय है। तीन दिन का समय महमूरगंज-सिगरा मार्ग की मरम्मत के लिए दिया गया है। इस सड़क का कार्य हो जाने के बाद ट्रैफिक डायवर्जन कर रथयात्रा-महमूरगंज रोड पर मरम्मत व सुधार कार्य कराने के निर्देश दिए गए हैं। नगर निगम और लोक निर्माण विभाग को सड़क के दोनों ओर की नाली सफाई व निर्माण के निर्देश दिए गए हैं। शहर में जगह-जगह नाले खुले छोड़ दिये गये हैं तथा क्षतिग्रस्त हैं उनकी सफाई और मरम्मत कराने का निर्देश दिया गया।महमूरगंज-सिगरा व

रथयात्रा-महमूरगंज मार्ग पर पेयजल पाइप लाइन भी क्षतिग्र्रस्त पायी गयी। मौके पर उपस्थित महाप्रबंधक जल-कल को भी निर्धारित अवधि में मरम्मत कराने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here