आईटीबीपी के पूर्वी फ्रंटियर का मुख्यालय लखनऊ में बनाया जाएगा। इसके लिए लखनऊ में जमीन ली जा रही है। शासन ने एलडीए से जमीन तलाशने को कहा था। प्राधिकरण ने सीजी सिटी में इसके लिए जमीन तलाश ली है तथा जमीन के सम्बंध में आईटीबीपी को पत्र भी भेज दिया है।

आईटीबीपी को अपने पूर्वी फ्रंटियर मुख्यालय के लिए लंबे समय से जमीन की तलाश थी। पहले आईटीबीपी ने इसके लिये लीडा से संपर्क साधा था। उसने जमीन देने की बात भी कही थी। आईटीबीपी ने इसके लिए लीडा में करीब 19 करोड़ रुपये भी जमा करा दिया था। लेकिन लीडा जमीन नहीं दे पाया। हाल ही में शासन में उच्च स्तरीय बैठक हुई। जिसमें मुख्य सचिव व अपर मुख्य सचिव गृह गोपन ने एलडीए को जमीन तलाशने का निर्देश दिया था। अब एलडीए ने जमीन तलाशी है। आईटीबीपी को एलडीए सीजी सिटी में जमीन देगा। यहाँ करीब 7 एकड़ जमीन आईटीबीपी को देने की तैयारी है। एलडीए उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश ने जमीन देने के सम्बंध में आईटीबीपी तथा अपर मुख्य सचिव गृह को भी पत्र भेज दिया है। 

एलडीए ने जमीन के लिए 55.88 करोड़ रुपए मांगे
एलडीए ने आइटीबीपी से जमीन के लिए 55.88 करोड़ रुपए मांगे हैं। प्राधिकरण ने लीडा में जमा रकम 18.92 करोड़ को कम करते हुए बाकी रकम एलडीए में जमा करने को कहा है। हालांकि शासन में हुई बैठक में आईटीबीपी ने लीडा में जमा रकम में ही जमीन देने का अनुरोध किया था। लेकिन एलडीए इतनी रकम में जमीन नहीं देगा। एलडीए आईटीबीपी से जमीन की पूरी कीमत लेगा।

बहुमंजिला होगा आइटीबीपी का पूर्वी फ्रंटियर मुख्यालय
आइटीबीपी का पूर्वी फ्रंटियर मुख्यालय बहुमंजिला बनेगा। इसीलिए इसके लिए 7 एकड़ तक जमीन ली जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि इसमें सभी प्रमुख अधिकारी बैठेंगे। जमीन मिलने के बाद दो वर्ष निर्माण में लगेगा। इसके बाद पूर्वी फ्रंटियर मुख्यालय का लखनऊ में आगाज होगा।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here