नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 6 साल में दुनिया ने भारत में जो विश्वास दिखाया था, वह पिछले कुछ महीनों में और मजबूत हुआ है। चाहे एफडीआई हो या एफपीआई, विदेशी निवेशकों ने भारत में रेकॉर्ड निवेश किया है और यह प्रक्रिया लगातार जारी है।

मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए फिक्की की 93वीं वार्षिक आम बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि हम लोगों ने 2020 में तेजी के साथ बहुत कुछ बदलते देखा है। देश, दुनिया इतने उतार-चढ़ाव से गुजरी है कि कुछ वर्षों बाद जब हम कोरोना काल को याद करेंगे तो शायद यकीन ही नहीं आएगा। जितनी तेज़ी से हालात बिगड़े उतनी ही तेज़ी के साथ सुधर भी रहे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब फरवरी-मार्च में यह महामारी शुरू हुई थी तो हम एक अनजान दुश्मन से लड़ रहे थे। उस समय काफी अनिश्चितता थी। चाहे प्रोडक्शन हो, लॉजिस्टिक्स हो या रिवाइवल ऑफ इकॉनमी हो। कई परेशानियां थीं। सवाल यह था कि यह कब तक चलेगा? स्थिति कैसे सुधरेगी। आज अर्थव्यवस्था के सूचक(इंडिकेटर) उत्साह बढ़ाने वाले हैं। देश ने संकट के समय जो सीखा उसने भविष्य के संकल्पों को और दृढ़ किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here