विशेष संवाददाता

कोरोना से निबटने के लिए lockdown लॉकडाउन और Prime Minister प्रधानमंत्री के संबोधनों की आलोचना कर रहे विपक्षी दलों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चर्चा करेंगे। आठ अप्रैल को वह video conferencing वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये उन सभी दलों के नेताओं से पूर्वान्ह 11 बजे बात करेंगे जिनकी parliament संसद में कम से कम संख्या पांच है। जाहिर है कि विपक्षी नेताओं से चर्चा के जरिये राजनीतिक एकजुटता दर्शाने की कोशिश होगी।

वैसे तो सभी राज्य केंद्र के साथ ताल से ताल मिलाकर corona कोरोना से जंग लड रहे हैं, लेकिन कांग्रेस समेत कुछ दल lockdown लॉकडाउन की खुल कर आलोचना कर रहे हैं। शुक्रवार को प्रधानमंत्री ने देश की एकजुटता के लिए गरीबों के नाम हर किसी से एक दिया जलाने का आह्वान किया तो विपक्षी दलों की ओर से घोर विरोध हुआ। कुछ ने इसका उपहास भी उड़ाया। ऐसे में आठ अप्रैल की सुबह 11 बजे होने वाली इस चर्चा का ख़ासा महत्व है।

PM और oppositio leaders होंगे आमने-सामने

दरअसल, यह ऐसा मौका होगा जब प्रधानमंत्री और विपक्षी नेता आमने-सामने होंगे। पीएम मोदी को कांग्रेस समेत विपक्षी दलों के हमले झेलने के लिए तैयार रहना चाहिए।

प्रधानमंत्री सभी राज्यों के साथ coordination समन्वय के लिए दो बार chief ministers मुख्यमंत्रियों से चर्चा कर चुके हैं। पिछले तीन-चार दिनों में तबलीगी जमात के लोगों की लापरवाही के चलते कोरोना संक्रमितों की संख्या जरूर तेजी से बढ़ी है, लेकिन भारत अब भी दूसरे कई देशों की तुलना में फिलहाल तो बेहतर स्थिति में दिख रहा है और इसका एक बड़ा कारण lockdown लॉकडाउन का बहुसंख्यक वर्ग पालन कर रहा है।

गौर करने वाली बात है कि यह चर्चा लॉकडाउन की अंतिम तिथि 14 अप्रैल से एक सप्ताह पहले हो रही है और तब तक कई स्थितियां साफ हो सकती हैं। वहीं विपक्षी नेताओं की ओर से लॉकडाउन अवधि बढ़ाने और आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति व्यवस्था आदि के संबंध में सवाल पूछे जा सकते हैं।

Parliament Affairs Minister संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि सिर्फ उन्हीं दलों के floor leaders फ्लोर नेताओं को चर्चा के लिए बुलाया गया है जिनकी संख्या कम से कम पांच है। नियमानुसार उसी पार्टी को संसद में दल की संज्ञा मिलती है जिनके दोनों सदनों में मिलाकर कम से कम पांच सदस्य हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here