इंदौर नागदा ( एजेंसी)। कहते हैं क्रोध सोचनें-विचारने की क्षमता को खात्मा कर देता है। जिसके चलते इंसान गुस्से में क्रूरता से भरे कदम उठा लेता है। परिणाम स्वरुप उसे केवल पछतावा व सजा भोगने का दंड मिलता है।

घटना नागदा के विद्यानगर क्षेत्र की है, जहां एक दिल दहला देने वाली वारदात से सनसनी मच गई। अवैध-संबंधों के शक में एक महिला को उसके ही पति, सास-ससुर और एक अन्य महिला रिश्तेदार ने घर में बंद कर उसके साथ जमकर मार-पीट की। उसे मारते हुए घर के बाहर तक लेकर आए और उसे मरा हुआ समझकर घर के बाहर ही फेंककर फरार हो गए। हद तो तब हो गई जब पड़ोस के लोग तमाशबीन बने रहे और महिला की मदद के लिए कोई आगे नहीं आया। 

वहीं आरोपियों के फरार होने के बाद भी लगभग 10 मिनट तक घायल महिला तड़पती रही लेकिन किसी ने भी उसके पास जाने तक की हिम्मत नहीं दिखाई। गंभीर रूप से घायल महिला को इंदौर रैफर किया है, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। 

घटना में क्रूरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने तलवार व अन्य हथियार से महिला की जीभ, गाल, जबड़ा और एक स्तन काट दिया। साथ ही वे यहीं नहीं रुके बल्कि महिला के मुंह और प्राइवेट पार्ट में बेलन भी घुसा दिया। आसपास के लोगों को जोर-जोर से महिला के बचाने की आवाजें आती रही लेकिन कोई उसे बचाने नहीं आया। इसके बाद उसे मारते हुए आरोपी घर के बाहर ले आए। तब भी लोग दूर से ही देखते रहे।आरोपियों को लगा कि महिला मर चुकी है, इसलिए उसे बाहर ही छोड़कर सभी घर के बाहर ताला लगाकर फरार हो गए।

पुलिस ने बताया कि, इस मामले में बिरलाग्राम थाना पुलिस ने पति, सास-ससुर व एक अन्य महिला रिश्तेदार के खिलाफ जान से मारने का कुत्सित प्रयास करने का प्रकरण दर्ज किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here