ट्रांसफार्मर के करंट से झुलसे 6 वर्षीय ऋतिक भट्ट के परिजनों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के 7 घंटे में ही औपचारिकताएं पूरी कर बिजली निगम 4.50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता का चेक सौंप दिया। 25 नवंबर को विद्युत विभाग के ट्रांसफार्मर से 6 वर्षीय मासूम ऋतिक भट्ट करंट लगने से झुलस गया था। उपचार के दौरान उसका बायां हाथ काटना पड़ा था। बुधवार को ऋतिक के परिजन पार्षद ऋषि मोहन वर्मा के साथ जनता दर्शन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात किए थे जिस सीएम ने सहायत राशि दिलाने के साथ इलाज में होने वाले खर्च की धनराशि भी मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से दिलाने का आश्वासन दिया।

सीएम से मुलाकात के बाद स्थानीय पार्षद एवं हिंदू युवा वाहिनी के महानगर संयोजक ऋषि मोहन वर्मा ने कैंप कार्यालय प्रभारी मोतीलाल सिंह से मुलाकात की। उन्होंने तत्काल मुख्य अभियंता विद्युत विभाग से वार्ता की। उसके बाद पार्षद ऋषि मोहन वर्मा के साथ ऋतिक मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय पहुंचा। तत्काल मेडिकल सर्टिफिकेट बनाए गए। औपचारिकताएं पूर्ण कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ निर्देश के 7 घंटे बाद ही विद्युत विभाग द्वारा 4.50लाख की आर्थिक सहायता का चेक अधिशासी अभियंता यदुनाथ राम के द्वारा रितिक भट्ट के पिता सर्वजीत भट्ट को गोरखनाथ मंदिर मुख्यमंत्री कैंप प्रभारी मोती लाल सिंह के द्वारा सौंपा गया। इस दौरान वीरेंद्र सिंह, अवर अभियंता श्याम सिंह,आनंद गुप्ता, सहदेव, सुनील गुप्ता, पार्षद ऋषि मोहन वर्मा मौजूद रहे। पार्षद ने बताया कि जख्मी होने के बाद ऋतिक को केजीएमयू लखनऊ रेफर किया गया था। जहां चिकित्सकों को रितिक का बाया हाथ काटना पड़ गया। उसका इलाज केजीएमयू लखनऊ में चल रहा है। रितिक के पिता सर्वजीत अत्यंत गरीब है। मेहनत मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते हैं। लेकिन सहायता राशि मिलने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया।

3 COMMENTS

  1. Thank you for any other fantastic article. The place else may just anyone get that kind of info in such a perfect means of writing? I have a presentation next week, and I am on the search for such info.

  2. Great blog here! Also your website loads
    up very fast! What host are you using? Can I get your affiliate
    link to your host? I wish my web site loaded up as fast as yours lol

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here