एक ओर दुनिया में कोरोना का कहर थम नहीं रहा है और रोज हजारों दम तोड़ रहे हैं वहीं अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 3176 लोगों की मौत हो गई है। जबकि एक खबर ये भी कि दक्षिण कोरिया में पिछले 40 दिनों में एक भी मौत नहीं हुई है।

दक्षिण कोरिया के डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन सेंटर (kcdc) ने इसकी जानकारी दी। देश में अब तक 240 लोगों की मौत हुई है। शुक्रवार को छह नए संक्रमित मिलने के साथ पॉजिटिव केस ( positive case)की संख्या 10 हजार 708 हो गई । 8 हजार 501 लोग ठीक हुए हैं। दक्षिण कोरिया में अब तक 5 लाख 69 हजार लोगों का टेस्ट किया गया है। इनमें 9,600 लोगों के टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आई है।

अमेरिका में 24 घंटे में 3176 की मौत

अमेरिका में एक दिन नें 3176 लोगों के मरने से हाहाकार मच गया। हालांकि संसद ने 37 लाख करोड़ रु. के चौथे राहत पैकेज (packege ) को मंजूरी दी है।

अमेरिका में संक्रमण से अब तक 50 हजार से ज्यादा की मौत हो चुकी है। दुनिया में एक लाख 90 हजार 654 लोगों की जान जा चुकी है। महामारी से बुरी तरह प्रभावित अमेरिका में 8 लाख 80 हजार से ज्यादा पॉजिटिव केस सामने आए हैं । अमेरिकी संसद ने शुक्रवार को 484 बिलियन डॉलर (करीब 37 लाख करोड़ रुपए) के राहत पैकेज को मंजूरी दे दी। इससे घाटे में चल रहे छोटे व्यापरियों को कर्ज देने की योजना दोबारा शुरू की जाएगी। इस पैकेज से अस्पतालों और टेस्टिंग गतिविधियों के लिए भी फंडिंग की जाएगी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प इस पैकेज के लिए एक बिल लेकर आए थे, जिसे हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव ( hor)ने सर्वसम्मति से पारित किया। कोरोना संक्रमण के लिए अमेरिकी सरकार की ओर से जारी यह चौथा राहत पैकेज है।

ब्रिटेन ने वायरस के लिए वैक्सीन तैयार की

ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने कोरोनावायरस से लड़ने के लिए दवा तैयार की है और इसका इंसानों पर ट्रायल शुरू हो गया है। वैज्ञानिकों का दावा है कि इस वैक्सीन( vaccine) के सफल होने के 80% चांस हैं। इस दवा के ट्रायल प्रोग्राम के लिए करीब 187 करोड़ रुपए खर्च किए हैं। ब्रिटेन के स्वाथ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने कहा कि आखिरकार हम दुनिया के पहले देश हैं, जिसने ऐसी दवा विकसित की है। हम इस जानलेवा वायरस की दवा ढूंढने के लिए अपना सबकुछ लगा देंगे। ब्रिटेन में एक दिन में 616 कई मौत हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here