विशेष संवाददाता

नई दिल्ली । अपेक्षानुसार ही शाहीन बाग पर बडी कार्रवाई करते हुए खाली कराने के बाद दिल्ली पुलिस ने हौज रानी और जामिया मिलिया इस्लामिया में भी प्रदर्शन स्थलों को खाली कराने में सफलता हासिल कर ली है।

हालांकि मंगलवार सुबह शाहीन बाग खाली कराए जाने के विरोध में एक बार फिर धरनास्थल के आसपास लोगों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई है। दिल्ली पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान शाहीन बाग में चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं और लोगों पर नजर रखे हुए हैं। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी हालत पर नजर बनाए हुए हैं

कोरोना वायरस से एहतियातन दिल्ली में धारा 144 लगाई गई है। वैसे जामिया मिलिया इस्लामिया ने कोरोना वायरस को देखते हुए 21मार्च को गेट नंबर 7 पर विरोध प्रदर्शन को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया था।

दिल्ली के पुलिस कमिश्नर एस.एन. श्रीवास्तव ने कर्फ्यू के दौरान लोगों से घर पर रहने की अपील की है। इस संबंध में किसी भी आंदोलन या लोगों को इकट्ठा होने की अनुमति नहीं है, निषेधाज्ञा जारी की गई है। आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही कर्फ्यू से छूट दी गई है। आदेश की अवहेलना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।

स्मरणीय है कि मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच दिल्ली पुलिस ने शाहीनबाग धरना स्थल को खाली करा दिया था। पुलिस की इस कार्रवाई के बाद लोगों में नाराजगी देखी जा रही है। सुरक्षा के मद्देनजर यहां एहतियातन भारी सुरक्षा तैनात किया गया है।

प्रदर्शन स्थल पर पुलिस की 10 कंपनियां लगाई गई हैं। पुलिस की इस कार्रवाई से पहले  धरनास्थल के आसपास की गलियों को ब्लॉक कर दिया गया था। शाहीन बाग धरनास्थल खाली कराने के बाद इस समय आसपास 500 मीटर के दायरे में बहुत बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। लोगों को अपना रोजमर्रा का सामान लेने के लिए आने-जाने दिया जा रहा है, लेकिन प्रदर्शन स्थल की तरफ किसी को नहीं जाने दिया जा रहा है।

शाहीन बाग में वह स्थान जहां कई महीनों से नागरिकता संशोधन कानून का विरोध हो रहा था, अब वहां पर सफाई की जा रही है। दिल्ली पुलिस ने Coronavirus के मद्देनजर दिल्ली में लॉकडाउन के बीच धरना स्थल को खाली करा दिया।

शाहीन बाग के प्रदर्शन से जुड़े लोगों का कहना है कि हमने रात को ही कर्फ्यू की आशंका से प्रदर्शनस्थल खाली कर दिया था। सुबह 7:15 बजे के आसपास पुलिस ने आकर टेंट व अन्य चीजें हटा दीं। फिलहाल पुलिस शाहीन बाग को छावनी में तब्दील कर दिया है। सभी एहतियात कदम उठाए जा रहे हैं, जिससे कि कोई टकराव की स्थिति या हालात अनियंत्रित न हों।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here