पेरिस। फ्रांस में कोरोना वायरस ने फिर अपना प्रकोप दिखाना शुरू कर दिया है। कोरोना के खतरे को देखते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैन्युएल मैक्रों ने पूरे देश में 4 हफ्ते के लिए लॉकडाउन लगा दिया है। देशव्यापी लॉकडाउन लगाने का आदेश देते हुए राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा कि स्कूलों को कम से कम तीन हफ़्ते के लिए बंद किया जाए।

जरूरी सामानों की दुकानें खुली रहेंगी

फ्रांस में कोरोना वायरस की तीसरी लहर चल रही है। ऐसे में राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा कि अगर अभी हमने अभी ठोस कदम नहीं उठाया तो हम कोरोना पर नियंत्रण खो देंगे। फ्रांस में देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान केवल जरूरी सामान की दुकानों को खुलने की इजाजत होगी। ऑफिस जाने के बजाय लोग वर्क फ्रॉम होम करेंगे। इस दौरान 10 किमी से ज्यादा दूर जाने पर रोक होगी।

सख्ती से फैसले लेने का वक्त आ गया

फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान कोरोना टीकाकरण के काम में तेजी लाई जाएगी और गर्मियों के खत्म होने तक सरकार 18 साल से अधिक की उम्र वाले सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवा देगी। राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा कि हमने इन निर्णयों को देर से करने के लिए हर संभव प्रयास किया, लेकिन अब इन फैसलों को सख्ती से लेने का वक्त आ गया है।

फ्रांस में कोरोना के अबतक 46 लाख से ज्यादा मामले

आपको बता दें कि फ्रांस में कोरोना संक्रमण के पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 46 लाख के पार हो चुकी है जबकि कोरोना महामारी की वजह से अब तक 95,502 लोगों की मौत हो चुकी है। हाल के दिनों में यहां ब्रिटेन के नए वेरिंएट के कोरोना वायरस के कारण संक्रमण के मामलों में तेजी आई है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here