मिशन बंगाल के लिए भाजपा नेतृत्व ने अगले पांच माह के लिए पूरी तैयारी कर ली है। हर बूथ तक अपनी मजबूत पैठ बनाने के लिए भाजपा नेता भोजन और संपर्क के जरिए लोगों से सीधा संवाद करेंगे। गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा हर माह राज्य का दौरा करेंगे। उनके अलावा पार्टी के विभिन्न केंद्रीय नेता कम से कम 15 दिन राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में रहेंगे। भाजपा की चुनावी तैयारियां तो वैसे दो महीने पहले ही शुरू हो गई थी और उसके विभिन्न राज्यों से आए संगठन एवं संवाद में माहिर नेताओं ने अपने अपने क्षेत्रों में जाकर काम करना भी शुरू कर दिया है।

भाजपा ने बंगाल को संगठनात्मक रूप से पांच हिस्सों में बांटा हुआ है। इनमें उत्तरी बंगाल की कमान संयुक्त संगठन मंत्री शिव प्रकाश संभाले हुए हैं। राढ़ बंग क्षेत्र में रविंद्र जाजू और विनोद सोनकर की टीम है, जबकि कोलकाता में सुनील बंसल और दुष्यंत गौतम मोर्चा संभाले हुए हैं। नवदीप में भीखू भाई दलसानिया के साथ विनोद तावड़े और हावड़ा-मेदिनीपुर में पवन राणा के साथ सुनील देवधर और हरीश द्विवेदी सक्रिय हैं।

इनके अलावा सात केंद्रीय नेता संजीव बालियान, गजेंद्र सिंह शेखावत, केशव प्रसाद मौर्य, नरोत्तम मिश्रा, अर्जुन मुंडा और मनसुख मंडाविया छह – छह लोकसभा क्षेत्रों की कमान संभाले हैं। अन्य केंद्रीय मंत्री भी राज्य में सक्रिय है। भाजपा की रणनीति विधानसभा चुनाव तक राज्य के हर क्षेत्र में अपने नेताओं की टीम के जरिए हर मतदाता तक पहुंचने की है।

बंगाल के साथ खुद को तादात्म कायम करने के लिए पार्टी ने भोजन और संपर्क अभियान चलाया हुआ है। इसके तहत पार्टी के नेता अपने दोरो में किसी सामान्य व्यक्ति के घर जाकर भोजन करेंगे। वह दलित, पिछड़ा, किसान, मजदूर, कलाकार आदि होंगे। इनके जरिए पार्टी विभिन्न वर्गों को संदेश भी देगी और अपनी जमीन भी मजबूत करेगी। दूसरी तरफ बड़े नेता रोड शो और रैलियों के जरिए ममता बनर्जी के गढ़ में सेंध लगाने की कोशिश करेंगे।
 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here