अश्विनी वैष्णव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में नए रेल मंत्री के रूप में कार्यभार संभालने के कुछ घंटों बाद रेल मंत्रालय के अधिकारियों और कर्मचारियों को दो शिफ्ट में काम करने का निर्देश दिया. अश्विनी वैष्णव की तरफ से गुरुवार (8 जुलाई, 2021) को जारी एक आदेश में कहा गया है कि पहली शिफ्ट सुबह 7 बजे शुरू होगी और शाम 4 बजे खत्म होगी जबकि दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे शुरू होगी और मध्यरात्रि में 12 बजे समाप्त होगी.

रेल मंत्रालय के एडीजी पीआर डीजे नारायण के मुताबिक ये आदेश सिर्फ एमआर सेल (मंत्री कार्यालय) के लिए जारी किया गया है न कि प्राइवेट या रेलवे स्टाफ के लिए. उन्होंने कहा कि रेल मंत्री ने निर्देश दिया है कि उनके ऑफिस से जुड़े सभी दफ्तर और कर्मचारी तत्काल प्रभाव से दो शिफ्ट यानी 7:00 बजे से 16:00 बजे और 15:00 बजे से 12:00 बजे तक काम करेंगे.

साथ ही कहा कि ये एमआर सेल में अधिकारियों के लिए ही है जैसा कि नोट में लिखा है और इसका मतलब है सोने से पहले मीलों जाना है. उन्होंने कहा कि मिशन मोड पर रेलवे के लिए बहुत कुछ किया जाना है और हर मिनट मायने रखता है. एमआर सेल का मतलब है मंत्री का कार्यालय है. नवनियुक्त रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि रेलवे पीएम नरेंद्र मोदी के दृष्टिकोण का एक प्रमुख हिस्सा है और उन्होंने वादा किया कि वो इस दृष्टि को वास्तविकता बनाने के लिए काम करेंगे.

वैष्णव ने कहा कि रेलवे के लिए उनका (प्रधानमंत्री मोदी का) विजन लोगों के जीवन को बदलना है, ताकि आम आदमी, किसान, गरीब सभी को रेलवे का लाभ मिले. एक पूर्व आईएएस अधिकारी अश्विनी वैष्णव को रेल मंत्री, संचार मंत्री और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री नियुक्त किया गया है.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here