किसानों के आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी हर जिले में गणतंत्र दिवस पर राष्ट्रीय ध्वज लगाकर ट्रैक्टर रैली निकालेगी। तहसील स्तर पर इसका आयोजन किया जाएगा। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने किसान आंदोलन के समर्थन में पार्टी नेताओं व कार्यकर्ताओं को ट्रैक्टर रैली के संबंध में निर्देश दिए हैं। सपा के प्रवक्ता मनोज राय धूपचंडी के अनुसार इसकी तैयारियां भी शुरू कर दी गई हैं। 

अखिलेश ने कहा कि किसान अपनी न्याय संगत मांगों को लेकर लगातार शांतिपूर्ण धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका अहिंसात्मक आंदोलन ऐतिहासिक बन गया है। गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व है। अन्नदाता सम्मान का पात्र है। उसको अपमानित नहीं किया जाना चाहिए। किसानों की मांगों की उपेक्षा नहीं होनी चाहिए। उनकी मांगों को मानने से राष्ट्र का गौरव बढ़ेगा।

उन्होंने कहा किसानों की मुख्य मांग है कि तीनों कृषि कानूनों को वापस लिया जाए क्योंकि किसान हितों के विरोधी है। इसी के साथ वे न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की अनिवार्यता की मांग कर रहे हैं ताकि किसान को उसकी फसल का लाभकारी दाम मिल सके। भाजपा को समझना चाहिए कि जिनके लिए यह कानून बना है, जब उन्हें ही ये स्वीकार्य नहीं है तो फिर इसका क्या फायदा

अखिलेश ने कहा कि सपा आंदोलनकारी किसानों की मांगों का पूरी तरह समर्थन करती है। किसानों के समर्थन में किसान यात्रा और घेरा कार्यक्रम चलाए हैं। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को सपा किसानों के साथ गणतंत्र दिवस मनाएगी। इस दिन राज्य भर की प्रत्येक तहसील पर किसान अपने-अपने ट्रैक्टरों पर तिरंगा लगाकर आएंगे। वे समाजवादियों के साथ राष्ट्रीय ध्वजारोहण कार्यक्रम में शामिल होकर एकता का प्रदर्शन करेंगे।

राजधानी लखनऊ में भी किसान आंदोलन की आहट
दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन की आहट राजधानी लखनऊ में भी सुनाई पड़ रही है। न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी का कानून बनाने तथा नए कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर भारतीय किसान यूनियन ने 23 जनवरी को राजभवन घेराव की घोषणा की है, वहीं भारतीय किसान मंच ने 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकालने का एलान किया है।

किसान संगठनों की संयुक्त संघर्ष समिति ने 23 जनवरी को हर राज्य में राजभवन के घेराव का आह्वान किया है। भाकियू के राष्ट्रीय महासचिव राजेश सिंह चौहान और लखनऊ मंडल अध्यक्ष हरिनाम सिंह वर्मा ने बताया कि पूर्वांचल, अवध और मध्य यूपी के सभी जिलों से किसान 23 जनवरी को लखनऊ पहुंचेंगे।

पश्चिमी यूपी के किसान ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली रवाना होंगे। उधर, भारतीय किसान मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र तिवारी ने कहा कि 26 जनवरी को लखनऊ में भी ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। मंगलवार को फिर से सभी संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक में ट्रैक्टर परेड की रणनीति पर चर्चा की जाएगी।

1 COMMENT

  1. After I originally commented I clicked the -Notify me when new feedback are added- checkbox and now each time a comment is added I get four emails with the same comment. Is there any manner you’ll be able to take away me from that service? Thanks!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here