सरकार और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच शनिवार को पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही, जहां किसान संगठनों के नेता नये कृषि कानूनों को वापस लिये जाने की मांग पर अड़े रहे और इस मुद्दे पर सरकार से ‘हां’ या ‘नहीं’ में जवाब की मांग करते हुए ‘मौन व्रत’ पर चले गये. इसके बाद केंद्र ने गतिरोध समाप्त करने के लिए नौ दिसंबर को एक और बैठक बुलाई है | वहीं कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर में शोध जारी हैं| इसी बीच नेशनल सेंटर फॉर सेल

साइंसेज के साइंटिस्ट एमेरिटस डॉक्टर योगेश शूच ने बड़ा बयान दिया है~ उन्होंने दावा किया है कि कोविड वायरस के रूप में पहले के मुकाबले अब बदलाव आया है|

1.vअब अलग तरह से हमला कर सकता है वायरस, बदल रहा है रूप

कोरोना वायरस को लेकर दुनियाभर में शोध जारी हैं. इसी बीच नेशनल सेंटर फॉर सेल साइंसेज के साइंटिस्ट एमेरिटस डॉक्टर योगेश शूच ने बड़ा बयान दिया है | उन्होंने दावा किया है कि कोविड वायरस के रूप में पहले के मुकाबले अब बदलाव आया है | एनसीसीएस ऑनलाइन के आयोजित इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल 2020 में बोल रहे डॉक्टर योगेश के मुताबिक, इस साल जून और जुलाई में वायरस का जो प्रकार मिला था, वह अब मिले वायरस से हाल में मिले 20B वायरस से अलग है|

  1. रूस में कोरोना वैक्सीन लगाना शुरू

रूस राजधानी मॉस्को में क्लिनिक्स के साथ कोविड-19 वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू कर रहा है. इसमें उन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी जिन्हें कोरोना वायरस के संक्रमण का सबसे अधिक ख़तरा है.
वैक्सीनेशन के लिए रूस अपनी स्पुतनिक 5 वैक्सीन इस्तेमाल कर रहा है जिसे इस वर्ष अगस्त में रजिस्टर्ड कराया गया था.
इस वैक्सीन को विकसित करने वालों का कहना है कि ये वैक्सीन 95 प्रतिशत प्रभावी है और इसका कोई बड़ा साइड इफेक्ट भी नहीं है. हालांकि बड़े पैमाने पर इसका ट्रायल अभी भी जारी है.
वैक्सीन पहले पाने के लिए रूस में हज़ारों लोगों ने अपना पंजीयन कराया है, लेकिन अभी ये साफ़ नहीं है कि रूस इस वैक्सीन को कितनी मात्रा में बना पाएगा.
उम्मीद जताई गई है कि इस साल के आख़िर तक वैक्सीन के 20 लाख डोज़ तैयार कर लिए जाएंगे.
मॉस्को के मेयर सर्गेई सोबेएनिन का कहना है कि 1.3 करोड़ आबादी वाले शहर में पहले उन लोगों को वैक्सीन मिलेगी जो सामाजिक कार्यों, स्कूलों और स्वास्थ्य सेवाओं में काम करते हैं.
उन्होंने कहा कि जैसे जैसे वैक्सीन उपलब्ध होती जाएगी, वैक्सीनेशन के लिए लोगों की सूची लंबी होती जाएगी.
रूस में मॉस्को, कोरोना महामारी का केंद्र रहा है जहां हर दिन संक्रमण के हज़ारों मामले सामने आ रहे हैं. मॉस्को में कोरोना वायरस की वजह से हर दिन दर्ज़नों लोग दम तोड़ रहे हैं.

  1. किसानों की हर शंका का समाधान करेगी सरकार, MSP जारी रहेगी

सरकार और प्रदर्शनकारी किसानों के बीच शनिवार को पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रही, जहां किसान संगठनों के नेता नये कृषि कानूनों को वापस लिये जाने की मांग पर अड़े रहे और इस मुद्दे पर सरकार से ‘हां’ या ‘नहीं’ में जवाब की मांग करते हुए ‘मौन व्रत’ पर चले गये. इसके बाद केंद्र ने गतिरोध समाप्त करने के लिए नौ दिसंबर को एक और बैठक बुलाई है.
तीन केंद्रीय मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ चार घंटे से अधिक देर तक चली बातचीत के बाद किसान नेताओं ने कहा कि सरकार ने इस मुद्दे के समाधान के लिए अंतिम प्रस्ताव पेश करने के वास्ते आंतरिक चर्चा के लिए और समय मांगा है. हालांकि, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार बैठक में मौजूद 40 कृषक नेताओं से उनकी प्रमुख चिंताओं पर ठोस सुझाव चाहती थी. उन्होंने उम्मीद जताई कि उनके सहयोग से समाधान निकाला जाएगा.

  1. दिल्ली-NCR के कई रास्ते बंद, Traffic Police ने जारी की एडवाइजरी

किसानों और सरकार के बीच पांचवे दौर की मीटिंग भी बेनतीजा रही. अगली बैठक 9 दिसंबर को तय की गई है. इस बीच किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) जारी है. किसान आंदोलन के चलते दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में यातायात व्यवस्था चरमरा गई है. तमाम रास्ते बंद हैं. जहां आवाजाही की छूट है वहां भीषण जाम की स्थित है. इस बीच दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है. NH 44 दोनों तरफ से बंद
जाम .और प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने कई मार्गों पर ट्रैफिक रूट डायवर्ट किया है. सिंघू, औचंदी, लामपुर, पियाओ मनियारी, मंगेश बॉर्डर बंद हैं. एनएच 44 दोनों तरफ से बंद है. दिल्ली पुलिस ने ट्वीट कर कहा है कि, सफियाबाद, सबोली, एनएच 8/भोपरा/अप्सरा बॉर्डर/पेरिफेरल एक्सप्रेसवे की तरफ से वैकल्पिक मार्ग चुनें | इन रास्तों से जाएं हरियाणा

वहीं झटीकरा बॉर्डर केवल टू व्हीलर ट्रैफिक के लिए ही खुला है. हरियाणा के लिए धनसा, दौराला, कपसेरा, राजोखरी NH 8, बिजवासन/बजघेरा, पालम विहार और डूंडाहेड़ा बॉर्डर की तरफ से जा सकते हैं. टिकरी और झाडोदा बंद
टिकरी और झाडोदा बॉर्डर आज भी पूरी तरह ट्रैफिक मूवमेंट के लिए बंद हैं. बदोसराय बॉर्डर केवल हल्के मोटर व्हीकल जैसे कार और दो पहिया वाहनों के लिए खुला है |

कानूनों में संशोधन करने संसद का विशेष सत्र बुला सकती है सरकार: सूत्र

कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों की नाराजगी का दौर 10वें दिन भी जारी है. सरकार के साथ 4 बार चर्चा होने के बाद भी कोई हल नहीं निकल सका है. हालांकि, इस दौरान सरकार ने कृषि कानूनों में कुछ संशोधन के संकेत दिए हैं. सूत्रों ने न्यूज18 को बताया कि इसके लिए सरकार अलग से खास संसद सत्र का आयोजन भी कर सकती है.
सूत्रों ने बताया है कि सरकार भी किसानों की कुछ मांगों को मानना चाह रही है. माना जा रहा कि इन संशोधनों में एमएसपी (MSP), प्राइस गारंटी स्कीम और कॉन्ट्रैक्ट खेती के विवादों से जुड़ी तीन से चार काफी जरूरी मांगों को शामिल किया जा सकता है. इसके अलावा गैर सरकारी बाजारों से खरीदी करने पर निजी ग्राहकों को खुद को रजिस्टर भी कराना पड़ सकता है.

  1. टी-20 मैच से ठीक पहले मिचेल स्टार्क नहीं खेलेंगे मैच

सिडनी में आज होने वाले टी-20 मैचसे ठीक पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम को बड़ा झटका लगा है. तेज गेंदबाज़ मिचेल स्टार्क ने टीम से नाम वापस ले लिया है. ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड के मुताबिक स्टार्क के परिवार को कोई सदस्य बीमार हो गया है. कैनबरा से वापस सिडनी आने के बाद उन्होंने अचानक घर लौटने की सूचना टीम मैनेजमेंट को दी.
बता दें कि आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज़ का दूसरा टी-20 मैच खेला जाएगा. पहले मैच में टीम इंडिया को धमाकेदार जीत मिली थी. ऐसे में सीरीज़ में बने रहने के लिए ऑस्ट्रेलिया को आज का मुकाबला हर हाल में जीतना होगा.
कैमरून भी ग्रीन टी-20 से हुए बाहर, नाथन लायन को लाया गया
मेजबान ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज गंवाने के बाद टीम इंडिया ने टी20 सीरीज में विजयी आगाज किया. पहला मैच भारत ने 11 रनों के अंतर से जीतकर तीन मैचों की टी20 सीरीज में 10 से बढ़त हासिल कर ली थी और अब उसकी नजर रविवार को सिडनी में खेले जाने वाले दूसरे टी20 मैच पर है, जहां वह सीरीज अपने नाम करने उतरेगी. वहीं ऑस्‍ट्रेलिया ने सीरीज को बचाने के लिए अपने दल में बड़ा उलटफेर किया है. उन्‍होंने कैमरून ग्रीन को बाकी बचे हुए दोनों टी20 मैचों के लिए टीम से बाहर कर दिया है और उनकी जगह स्‍टार ऑफ स्पिनर नाथन लायन को शामिल किया है.

  1. चीन के कोयला खान में 18 मजदूरों की मौत, कार्बन मोनोक्साइड का स्तर बढ़ना बनी वजह

चीन के एक कोयला खदान में कार्बन मोनोक्साइड का स्तर अधिक हो जाने की वजह से 18 मजदूरों की मौत हो गई. स्थानीय अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी. सरकारी संवाद एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि यह घटना चोंगकिंग नगर निगम के योगचुआन जिले स्थित दियाओशुइदोंग कोयला खदान में शुक्रवार शाम पांच बजे हुई.
पांच अब भी लापता हैं और इनकी तलाश की जा रही है. एक मजदूर को बचा लिया गया है. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, खदान में कुछ कम उम्र के लड़के भी थे. शिन्हुआ के मुताबिक कार्बन मोनोक्साइड का स्तर बढ़ने से 18 मजदूरों की मौत की पुष्टि हुई है. खबर के मुताबिक पुलिस और दमकल विभाग के अधिकारियों सहित बचाव कर्मी खदान के उस हिस्से में पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं जहां मजदूर फंसे हुए हैं. हादसे के कारणों की जांच की जा रही है.

7, सऊदी-यूएई जा रहे भारत के सेना प्रमुख, पाकिस्तान के खड़े होंगे कान

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज नरवणे के रविवार को सऊदी अरब और यूएई के चार दिवसीय दौरे पर रवाना होने की खबर है. हालांकि आधिकारिक रूप से अभी इसकी पुष्टि नहीं की गई है.

पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों का सऊदी अरब आना-जाना होता रहता है लेकिन ये पहली बार है जब कोई भारतीय सेना प्रमुख सऊदी अरब का दौरा करेगा. जनरल नरवणे के दौरे को भारत के साथ सऊदी और यूएई के बीच गहराते रक्षा संबंध के तौर पर देखा जा रहा है.

सूत्रों के मुताबिक, नरवणे सऊदी अरब और यूएई में दो-दो दिन रहेंगे और दोनों देशों के शीर्ष सैन्य अधिकारियों से मुलाकात करेंगे. आर्मी चीफ नरवणे सऊदी में ‘नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी’ में एक कार्यक्रम को भी संबोधित करेंगे. इससे पहले, भारतीय विदेश मंत्री एस. जयशंकर भी 24 नवंबर को बहरीन और यूएई के तीन दिवसीय दौरे पर गए थे.

इस्लामिक दुनिया में समीकरण अब पहले से काफी बदल चुके हैं. एक जमाने में पाकिस्तान सऊदी के बेहद करीब हुआ करता था लेकिन अब कश्मीर को लेकर दोनों देशों के रिश्तों में दरार आ गई है. हाल ही में, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सऊदी को धमकी दी थी कि अगर वो कश्मीर पर नेतृत्व नहीं करेगा तो वो अपने साथ खड़े मुस्लिम देशों के साथ अलग से बैठक बुलाने पर मजबूर हो जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here