विशेष संवाददाता

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के चयन के दौरान चयन समिति के सदस्य, कप्तान कोहली और बोर्ड सचिव मौजूद रहेंगे, लेकिन कोच रवि शास्त्री का प्रवेश वर्जित होगा।कयास लगाए जा रहे हैं कि सौरभ गांगुली के आने से क्रिकेट में असमंजस की स्थिति समाप्त हो जाएगी।

रवि शास्त्री : विदाई का समय आ गया क्या ?

बांग्लादेश सीरीज के लिए 24 अक्टूबर को होगा टीम का चयन।23 अक्टूबर को गांगुली BCCI अध्यक्ष पद संभालने वाले हैं।

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली जल्द अपनी नई पारी शुरू करने जा रहे हैं. गांगुली भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) के नए अध्यक्ष के रूप में 23 अक्टूबर को कार्यभार संभालने जा रहे हैं हालांकि इससे पहले गांगुली ने लोढ़ा कमेटी की सिफारिश के मद्देनजर साफ कर दिया है कि टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री अब सेलेक्शन कमिटी की बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे.

बांग्लादेश सीरीज के लिए टीम इंडिया का सेलेक्शन 21 अक्टूबर को होना था, लेकिन इसकी तिथि में बदलाव किया गया है. अब टीम का चयन 24 अक्टूबर को होगा. वहीं, 23 अक्टूबर को सौरव गांगुली बीसीसीआई के अध्यक्ष पद की कुर्सी संभाल लेंगे. हालांकि दादा सेलेक्शन कमेटी की बैठक में हिस्सा नहीं ले सकते हैं, ऐसे में वो बैठक से पहले सेलेक्शन कमेटी के सदस्यों से बातचीत कर सकते हैं।

घरेलू क्रिकेट नही खेलने पर देना होगा स्पष्टीकरण

पिछले तीन-चार साल से घरेलू क्रिकेट नहीं खेलने पर कोई जवाबदेही नहीं थी , लेकिन शायद अब ऐसी करने पर हर खिलाड़ी को स्पष्टीकरण देना होगा.

गांगुली-शास्त्री में मतभेद जगजाहिर है

टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री और बीसीसीआई के नए अध्यक्ष बनने जा रहे सौरव गांगुली के मतभेद की कहानी जगजाहिर है। 2017 चैंपियंस ट्रॉफी के दौरान कोच रहे अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली के बीच हुए मतभेद के बाद कुंबले ने कोच पद से इस्तीफा दे दिया था।इसके बाद कोहली ने शास्त्री को कोच बनाने की मांग की थी, जिसके पक्ष में गांगुली नहीं थे। हालांकि सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित प्रशासकों की समिति और सचिन तेंदुलकर के कारण सौरभ गांगुली को पीछे हटना पड़ा था। वैसे गांगुली कई मौके पर शास्त्री के खिलाफ मोर्चा खोल चुके हैं, यह बताने की जरूरत नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here