सम-विषम नियम का किया विरोध

नई दिल्ली। भाजपा के वरिष्ठ नेता विजय गोयल ने विषम नंबर वाली एक एसयूवी चलाते हुए सोमवार को सम-विषम नियमों का उल्लंघन किया और इस योजना को केजरीवाल सरकार का ‘‘चुनावी हथकंडा’’ बताया। उन्होंने सम-विषय योजना के खिलाफ इसे ‘प्रतीकात्मक विरोध’ प्रदर्शन बताया।

राज्यसभा सदस्य गोयल सम-विषम योजना का विरोध करने के लिए सम दिन पर विषम नंबर की गाड़ी लेकर दिल्ली की सड़क पर निकल गए। भाजपा उपाध्यक्ष श्याम जाजू और पार्टी के अन्य नेता भी उस एसयूवी में सवार थे, जिसे गोयल अशोक रोड पर अपने आवास से लेकर निकले थे।

यातायात पुलिस कर्मियों ने जनपथ के पास उनकी गाड़ी को रोक दिया और चालान काटा। सम-विषम नियम का उल्लंघन करने पर 4,000 रुपये के जुर्माने का प्रावधान है। इससे पहले 2016 में दो बार यह योजना लागू होने पर उल्लंघन के लिए 2,000 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया गया था।

गोयल की कार पर लिखा था ‘प्रदूषण की जिम्मेदार केजरीवाल सरकार, ऑड-ईवन है बेकार’ । साथ ही सम-विषम योजना को नौटंकी बताया गया। उन्होंने अपने आवास पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं केजरीवाल सरकार की नाकामी के खिलाफ ऐसा कर रहा हूं क्योंकि प्रदूषण पर नियंत्रण के लिए दिल्ली में पांच साल में कुछ नहीं हुआ। अब वह आगामी विधानसभा चुनाव के कारण सम-विषम योजना के जरिए नौटंकी कर रही है।’’

दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने बाद में फूलों के गुलदस्ते के साथ गोयल से मुलाकात कर उनसे नियमों का उल्लंघन नहीं करने का अनुरोध किया। गहलोत ने कहा कि दिल्ली के लोग योजना का पालन कर रहे हैं और इसके उल्लंघन के लिए भाजपा का प्रदर्शन करना गलत है। सम-विषम योजना 15 नवंबर तक सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक योजना लागू रहेगी । गोयल ने अप्रैल 2016 में भी सम-विषम नियमों का उल्लंघन किया था। प्रदूषण कम करने के लिए आप सरकार ने जनवरी 2016 में इस कार्यक्रम की शुरूआत की थी। 

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here