नई दिल्ली। ब्रिस्बेन टेस्ट मे भारत के ड्रा कर लेने पर भी मेहमानों की शर्मनाक हार कहने वाले ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग ‘स्तब्ध’ हैं और समझ नहीं पा रहे कि कैसे भारत की दोयम दर्जे यानी ‘ए टीम ’ ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर हरा दिया। हालांकि उन्होंने स्वीकार किया कि भारतीय टीम जीत की हकदार थी । पॉन्टिंग ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा ,’ मैं स्तब्ध हूं कि ऑस्ट्रेलिया यह श्रृंखला नहीं जीत सकी। यह तो भारत की ए टीम थी और फिर भी इसने मैच जीत लिया।’ उन्होंने कहा ,’भारतीय टीम पिछले पांच या छह सप्ताह में जिन हालात से गुजरी है कि कप्तान स्वदेश लौट गया और खिलाड़ियों की चोटों के बीच वे पूरी मजबूत टीम नहीं उतार सके। ऑस्ट्रेलिया तो पूरी मजबूत टीम के साथ खेला था , बस शुरूआत में डेविड वॉर्नर नहीं खेल सके थे ।’

रिकी पॉन्टिंग ने कहा ,’यह भारत की दूसरी चुनी हुई टीम भी नहीं थी क्योंकि इसमें भुवनेश्वर कुमार या ईशांत शर्मा भी नहीं थे । रोहित शर्मा भी आखिरी दो टेस्ट खेले ।’ पॉन्टिंग ने कहा ,’ उन्होंने शानदार क्रिकेट खेला . टेस्ट मैच के सभी निर्णायक मौकों को भुनाया जो ऑस्ट्रेलिया नहीं कर सकी । दोनों टीमों में यही फर्क था . भारत इस जीत का हकदार था ।’

रिकी पॉन्टिंग ने किया था आस्ट्रेलिया की 4-0 से जीत का दावा

बता दें रिकी पॉन्टिंग ने टेस्ट सीरीज से पहले दावा किया था कि ऑस्ट्रेलिया इस बार भारत को 4-0 से हराएगा। लेकिन टीम इंडिया ने मेलबर्न में जीत हासिल कर उनकी ये भविष्यवाणी गलत साबित कर दी थी। इसके बाद रिकी पॉन्टिंग ने सिडनी टेस्ट के दौरान दावा किया कि टीम इंडिया 200 रन भी नहीं बना पाएगी लेकिन रहाणे के खिलाड़ियों ने मैच ड्रॉ कराया। इसके बाद पॉन्टिंग ने कहा कि टीम इंडिया ब्रिसबेन जाने से डर रही है, लेकिन उनकी टीम को गाबा के मैदान पर ही पटखनी देकर भारत ने सीरीज अपने नाम कर ली। सिर्फ रिकी पॉन्टिंग ही नहीं मार्क वॉ, एलेन बॉर्डर ने भी टीम इंडिया के खिलाफ बयानबाजी की थी। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने भी दावा किया था कि भारत ये सीरीज 0-4 से हारेगा लेकिन टीम इंडिया ने अपने प्रदर्शन से सभी को गलत साबित कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here