बलूच, पश्तून, सिंधी भी करते दिखेंगे मोदी की जयजय कार के साथ फरियाद

विशेष संवाददाता अनिता चौधरी

27 सितंबर को यूनाइटेड स्टेट ऑफ़ अमेरिका के यूएन का नज़ारा देखते बनेगा। अंदर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूनाइटेड नेशन के जनरल असेंबली में भारत का पक्ष रख रहे होंगे और इधर यूनाइटेड नेशन के बाहर प्रधानमंत्री मोदी के स्वागत में हज़ारों की तादात में उनके समर्थक हाथों में प्लैंक कार्ड लिए उनके स्वागत में वेलकम मोदी जी के नारे लगा रहे होंगे। चलो यूएन के स्लोगन के साथ अमेरिका के ईस्ट कोस्ट न्यू यार्क ट्राई स्टेट ने एक रैली का आयोजन किया है और मजेदार बात ये है कि पीएम मोदी के स्वागत के इस कार्यक्रम में सिर्फ भारतीय मूल के लोग नहीं होंगे बल्कि पाकिस्तान के बलूच, पश्तून और सिंध प्रांत के लोग भी होंगे। ये लोग पाकिस्तान में हो रहे इनके साथ निर्ममता पूर्वक व्यवहार के लिए भारत के प्रधानमंत्री मोदी से मदद और इंसाफ की गुहार लगा रहे होंगे । पीएम मोदी की स्वागत की तैयारी जबरदस्त है। सिर्फ उनके इस यूएस विजिट के लिए बाकायदा www.welcomemodiji.com के नाम से एक वेबसाइट भी लांच की गयी है। इस वेबसाइट पर प्रधानमन्त्री मोदी से जुड़े कार्यक्रम को लेकर सारी जानकारी मौजूद है। बड़ी तादात में लोग इस वेबसाइट पर जा कर अपने आपको इस कार्यक्रम के साथ जोड़ रहे हैं और सारी जानकारी इकट्ठा कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के आयोजकों में से एक देव कारलेकर ने बताया कि पांच हजार से भी ज्यादा संख्या में लोग मोदी के वेलकम के लिए चलो यूएन मार्च के तहद वहां जमा हो रहे हैं। जगह-जगह से बसें चलाई जा रही हैं जिसकी डिटेल जानकारी वेबसाइट पर मौजूद है। सैंकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता इस कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए लगे हुए हैं।  देव कारलेकर का कहना है कि ह्यूस्टन के बाद न्यू यॉर्क में भी प्रधानमंत्री मोदी का ग्रैंड वेलकम लाज़मी है , मक़सद सिर्फ इतना है कि भारत और अमेरिका दोनों देशों के बीच एक सौहार्दपूर्ण रिश्तों की गरमाहट की जो शुरुआत हुई है उसको और मज़बूती देना और पाकिस्तान जैसे टेरेरिस्तान देश को सबक सिखाना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here