INX मीडिया मामले में सीबीआई ने मंगलवार को इंद्राणी मुखर्जी से पूछताछ की. सीबीआई मुंबई के बाइकुला जेल में आईएनएक्स मीडिया की पूर्व निदेशक और अब सरकारी गवाह बन चुकीं इंद्राणी मुखर्जी से सवाल-जवाब की. सूत्रों ने बताया कि पूछताछ एलआर (लेटर ऑफ रोगेटरी) के संबंध में थी, जिसे 5 देशों में भेजा गया है. जिन पांच देशों में एलआर भेजे गए उनमें से एक ने कुछ सवाल उठाए हैं और यही कारण है कि आज इंद्राणी से पूछताछ की गई. सीबीआई ने यूके, सिंगापुर, मॉरीशस, बरमूडा और स्विट्जरलैंड को एलआर भेजे हैं.

इससे पहले विशेष अदालत ने एजेंसी की याचिका को स्वीकार कर इंद्राणी से पूछताछ करने की अनुमति दे दी थी. सीबीआई का कहना था कि भ्रष्टाचार के मामले में वित्तीय लेनदेन के लिए वह इंद्राणी से पूछताछ करना चाहती है. बता दें कि इस मामले में पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को भी गिरफ्तार किया गया है.

चिदंबरम की गिरफ्तारी के पीछे इंद्राणी मुखर्जी और पीटर मुखर्जी के बयान की अहम भूमिका मानी गई. दिल्ली की एक विशेष सीबीआई अदालत ने चार जुलाई को आईएनएक्स मीडिया मामले में इंद्राणी मुखर्जी को सरकारी गवाह बनने की अनुमति दी थी.

क्या है मामला

इस मामले में ईडी ने CBI की प्राथमिकी के आधार पर एक PMLA का मामला दर्ज किया और आरोप लगाया कि INX मीडिया को 2007 में 305 करोड़ रुपये का विदेशी धन हासिल करने में विदेश निवेश प्रोन्नति बोर्ड (एफआईपीबी) की मंजूरी में अनियमितता की गई है. इस दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम थे.

ED की जांच से पता चला है कि FIPB की मंजूरी के लिए आईएनएक्स मीडिया के पीटर मुखर्जी और इंद्राणी मुखर्जी ने पी चिदंबरम से मुलाकात की थी, ताकि उनके आवेदन में किसी तरह की देरी न हो. ईडी ने कहा कि इस तरह से जो रुपया संबंधित निकायों को मिला, वह गैरकानूनी रूप से एएससीपीएल में लगा दिया गया.

आजतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here