अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने के लिए पीएम मोदी की तारीफ करते हुए केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि पिछली सरकारों ने जम्मू-कश्मीर को भारत की मुख्यधारा से जोड़ने में ’56 इंच के सीने वाले शख्स’ जैसा साहस कभी नहीं दिखाया।

महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कोल्हापुर जिले में एक रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि लोगों को कांग्रेस और एनसीपी के नेताओं से यह पूछना चाहिए कि क्या वे जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाए जाने संबंधी एनडीए सरकार के फैसले का समर्थन करते हैं ?शाह ने कहा, ‘कई सरकारें आई और गई, कई प्रधानमंत्री आये और गये। किसी ने अनुच्छेद 370 को हटाये जाने का साहस नहीं दिखाया था. लेकिन, 56 इंच के सीने वाले व्यक्ति ने इसे एक बार में ही खत्म कर दिया.’ 

उन्होंने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 लागू किये जाने के लिए विपक्षी पार्टी कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया। शाह ने कहा, ‘(लेकिन) सत्ता में आने के बाद (इस साल दूसरे कार्यकाल के लिए) मोदी जी ने कुछ ऐसा किया जिसका देश 70 सालों से इंतजार कर रहा था… उन्होंने 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया और जम्मू कश्मीर देश की मुख्यधारा में शामिल हो गया। उन्होंने मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा लिये गये कई अन्य साहसिक निर्णयों को भी गिनाया।

अमित शाह ने कहा कि इन फैसलों में  ‘तीन तलाक’ की प्रथा पर प्रतिबंध और उड़ी और पुलवामा आतंकवादी हमलों के बाद क्रमश: ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ और ‘एयर स्ट्राइक’ शामिल हैं।कोल्हापुर और सांगली में अगस्त में आई बाढ़ को लेकर उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया कि केन्द्र और राज्य सरकार दोनों जिलों को बदल देगी और ‘उन्हें और बेहतर तथा सुंदर बनाएगी।’ शाह ने बीजेपी की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के जल संरक्षण कार्यक्रम ‘जलयुक्त शिवर’ की तारीफ भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here