सरकार ने सोमवार को एक बड़े फैसले के तहत 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन दिए जाने की अनुमति दे दी। अभी तक यह इजाजत 45 साल के लोगों तक ही सीमित थी। हाल में कोरोना के बढ़ते केस को देखते हुए इसकी मांग उठी थी कि सबके लिए कोरोना का टीका शुरू कर दिया जाए। अभी 18 साल से ऊपर के लोगों को टीका दिए जाने की अनुमति दी गई है। अब इस उम्र के सभी लोग स्वेच्छा से टीका लगवा सकेंगे। इसके लिए आधार से खुद को रजिस्टर करना होगा ताकि सरकार के पास इसका रिकॉर्ड रहे।

देश में एक दिन में कोरोना के 2.73 लाख केस सामने आए हैं। मौतों की संख्या भी बढ़ रही है। ऐसे में सरकार ने साफ कर दिया कि ‘फेज 3 की स्ट्रेटजी’ के तहत सभी वयस्क लोगों के लिए टीकाकरण शुरू कर दिया जाएगा। भारत में जनवरी महीने से टीकाकरण हो रहा है। सबसे पहले बुजुर्गों को टीका दिया गया, उसके बाद 45 पार लोगों को और गंभीर बीमारी के शिकार लोगों को शामिल किया गया। अब 18 साल से ऊपर सभी वयस्कों के लिए टीकाकरण का ऐलान कर दिया गया है।

तेज होगा टीकाकरण

देश में फिलहाल दो कंपनियों का टीका दिया जा रहा है। इसमें सीरम इंस्टीट्यूट का टीका कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन शामिल है। हाल में कुछ विदेशी टीका को भी भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली है। इसमें रूस का स्पुतनिक वी और अन्य देशों की की वैक्सीन शामिल है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जिन वैक्सीन को मंजूरी दी है, आने वाले कुछ दिनों में भारत में भी उसका इस्तेमाल देखने को मिलेगा।

क्या है सरकार का नियम

  • वैक्सीन बनाने वाली कंपनियां अपने उत्पादन का 50 फीसद हिस्सा केंद्र सरकार को देंगी। बाकी का 50 परसेंट राज्य सरकारों या ओपन मार्केट में बेच सकती हैं।
  • कंपनियां अगर राज्य सरकारों और ओपन मार्केट में टीका बेचती हैं, तो इससे पहले उन्हें रेट के बारे में सार्वजनिक तौर पर बताना होगा।
  • इसी तय कीमत के आधार पर राज्य सरकारें, प्राइवेट हॉस्पिटल, औद्योगिक संस्थान टीका बनाने वाली कंपनियों से वैक्सीन खरीद सकते हैं।
  • केंद्र सरकार अभी हेल्थ वर्कर्स, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 45 साल से ऊपर के लोगों को मुफ्त में टीकाकरण करा रही है।
  • किस राज्य में कितने कोरोना के मरीज हैं, संक्रमण किस दर पर है, खतरा कितना है, ऐसे मुद्दों पर ध्यान रखते हुए केंद्र सरकार राज्यों को वैक्सीन देती है। अभी तक महाराष्ट्र को सबसे ज्यादा वैक्सीन दी गई है।

वैक्सीन सेंटर ढूंढने का सबसे आसान तरीका

आपके आसपास कौन सा वैक्सीन सेंटर है जहां आसानी से कोरोना का टीका पा सकते हैं, इससे जानने के लिए अपने मोबाइल का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए गूगल मैप्स ने अभी हाल में एक नया फीचर जोड़ा है जिसके जरिये वैक्सीन सेंटर ढूंढना बहुत आसान है। यहां सर्च करने के लिए आपको covid 19 vaccination या covid vaccination near me टाइप करना है।

इसके बाद सेंटर और हॉस्पिटल की जानकारी मिल जाएगी जहां कोविड का टीका मौजूद है। उस सेंटर और हॉस्पिटल के नंबर पर फोन कर टीके की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। केंद्र सरकार ने इसके लिए खास वेबसाइट कोविन शुरू किया है। पहले से मौजूद आरोग्य सेतु के माध्यम से भी टीके से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

इन टीकों को मंजूरी

इस्तेमाल के लिए कई टीकों को मंजूरी मिली है लेकिन अभी इनका ट्रायल चलेगा। केंद्र सरकार ने फिलहाल 100 लोगों पर विदेशी टीके को प्रायोगिक तौर पर लेने का आदेश दिया है। टीका लेने के बाद उसका प्रभाव देखा जाएगा, उसके बाद ही आम लोगों के इस्तेमाल के लिए हरी झंडी दी जाएगी। एक आंकड़े के मुताबिक भारत जैसे विशाल देश में हर महीने 12 करोड़ टीके की जरूरत होगी।

हर दिन के लिहाज से 40 लाख लोगों को टीका देने की जरूरत होगी। लेकिन अभी हर महीने अभी लगभग 7 करोड़ टीका ही बन पा रहा है। सरकार ने इस गति को तेज करने का आदेश दिया है। भारत अभी दुनिया का सबसे बड़ा टीका निर्माता देशा है। भारत अभी खुद की जरूरतों को पूरा करते हुए देश के कई देशों को टीका सप्लाई कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here